Fri, Apr 19, 2024

कावड़ यात्रा होगी प्रारंभ! प्रशासनिक अमले की तैयारियां पूरी, CCTV और ड्रोन से रखी जाएगी नजर

By  Shagun Kochhar -- July 3rd 2023 06:59 PM
कावड़ यात्रा होगी प्रारंभ! प्रशासनिक अमले की तैयारियां पूरी, CCTV और ड्रोन से रखी जाएगी नजर

कावड़ यात्रा होगी प्रारंभ! प्रशासनिक अमले की तैयारियां पूरी, CCTV और ड्रोन से रखी जाएगी नजर (Photo Credit: File)

प्रयागराज: कल यानी 4 जुलाई से कावड़ यात्रा शुरू होने जा रही है. इसी को लेकर प्रयागराज के प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है. कावड़ यात्रा को लेकर प्रशासनिक अमला पूरी तरह से सतर्क और तैयार है.


बता दें प्रयागराज के दशाश्वमेध घाट से कावड़ यात्री 4 जुलाई से आसपास के शिव मंदिर सहित वाराणसी के विश्वनाथ मंदिर तक पैदल यात्रा शुरू करेंगे. वहीं इस यात्रा को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है.  


घाटों पर हो रही जोरदार तैयारी

प्रशासन की ओर से घाटों को तैयार किया जा रहा है और लाइट, पेयजल, कपड़े बदलने के स्थान के साथ साथ शौचालय की व्यवस्था जैसी आवश्यक व्यवस्था को सुनिश्चित किया जा रहा है. घाटों के साथ साथ पूरे मार्ग पर और जगह जगह पर पुलिस बैरिकेट, ट्रैफिक डायवर्जन, बीट पुलिसिंग के साथ सभी प्रकार के सुरक्षा बलों को तैनात किया जा रहा है.

 

तैयारियों का जायजा लेने पहुंची टीम

वहीं तैयारियों की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी प्रयागराज संजय कुमार खत्री ने बताया की लगभग 200 मीटर लंबे घाट पर पूरी तरह से लाइट की व्यवस्था, पेयजल, कपड़े बदलने के स्थान सहित अन्य आवश्यक व्यवस्था की जा रही है. डीप वाटर बेरिकेडिंग के साथ जल पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, पीएसी और स्थानीय गोताखोर को तैनात किया गया है. कावड़ मार्ग को दुरुस्त करने और कावड़ यात्रियों को किसी प्रकार कोई असुविधा न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाएगा. वहीं महिला कावड़ यात्रियों के लिए चेंजिंग रूम की भी व्यवस्था अलग से की जा रही है.


सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त- नोडल अधिकारी

सुरक्षा व्यवस्था पर हुए सवाल पर कावड़ यात्रा व्यवस्था के नोडल अधिकारी और पुलिस उपायुक्त अभिषेक भारती ने बताया कि पूरे मार्गो में बैरिकेड की व्यवस्था कर दी गई है. प्रयागराज से वाराणसी जाने वाले मार्ग को एकल परिचालन मार्ग में परिवर्तित कर दिया गया है. साथ ही जगह-जगह पर पुलिस बीट की व्यवस्था की गई है. जिससे कावड़ यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो सके और उनकी पूरी सुरक्षा की जा सके. इसके अलावा सीसीटीवी के माध्यम से कावड़ यात्रा पर निगाह रखी जाएगी. मार्ग में पड़ने वाले घरों पर लगे सीसीटीवी कैमरों पर जोर दिया जा रहा है, ताकि दुर्घटना होने पर तुरंत कावड़ यात्रियों को सहायता प्रदान की जा सके.


ड्रोन से भी रखी जाएगी निगरानी

सीसीटीवी के अलावा ड्रोन से भी पूरे कांवड़ मार्ग पर निगाह रखी जा रही है. जल पुलिस के साथ-साथ पीएसी के तैराक और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को घाटों से लेकर सड़क मार्ग पर जगह-जगह तैनात किया जा रहा है. वहीं शासन द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार पूरे मार्ग पर समुचित व्यवस्था की जा रही है जिसकी देखरेख अपर पुलिस उपायुक्त और जिला मजिस्ट्रेट के आधीन है. उन्होंने ये भी बताया कि किसी भी प्रकार के आतंकवादी हमले की आशंका होने पर विशेष पुलिस दस्तों का चयन किया गया है जिनके द्वारा तुरंत कार्रवाई करते हुए कावड़ यात्रियों को सुरक्षा प्रदान की जाएगी.


डीजे के लिए निर्देश

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि डीजे के शोरगुल से किसी को कोई परेशानी ना हो इसके लिए सर्वोच्च न्यायालय के आदेश अनुसार डाक बम चलने वाले कावड़ यात्रियों को पहले से ही निर्देश दे दिए जा रहे हैं ताकि किसी प्रकार के अश्लील और फूहड़ गानों को वो न बजाएं और ऐसा करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी.

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो