Advertisment

अतीक को मारने वाले हमलावरों का क्या है बैकग्राउंड? आरोपियों के घर तक पहुंची पुलिस, मां का रो-रोकर बुरा हाल

Atiq ahmed killers ब्यूरो: प्रयागराज के एक अस्पताल के बाहर गैंगस्टर के राजनेता बने अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई. वहीं हर कोई जानना चाहता है कि इन दोनों की हत्या किसने की, कौन हैं वो जिन्होंने पुलिस की कड़ी सुरक्षा में सेंध लगाकर माफिया को मार गिराया और फिर सरेंडर भी कर दिया. बता दें मामले में तीन संदिग्धों लवलेश तिवारी, अरुण मौर्य और सनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

author-image
Shagun Kochhar
Updated On
New Update
अतीक को मारने वाले हमलावरों का क्या है बैकग्राउंड? आरोपियों के घर तक पहुंची पुलिस, मां का रो-रोकर बुरा हाल

ब्यूरो: प्रयागराज के एक अस्पताल के बाहर गैंगस्टर के राजनेता बने अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई. वहीं हर कोई जानना चाहता है कि इन दोनों की हत्या किसने की, कौन हैं वो जिन्होंने पुलिस की कड़ी सुरक्षा में सेंध लगाकर माफिया को मार गिराया और फिर सरेंडर भी कर दिया. बता दें मामले में तीन संदिग्धों लवलेश तिवारी, अरुण मौर्य और सनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

Advertisment



पत्रकार बनकर आए थे तीनों

जानकारी के मुताबिक, तीनों हत्यारे बाइक पर सवार होकर पत्रकार बनकर आए थे. तीनों ने पुलिस अभिरक्षा में मौजूद अतीक और अशरफ को गोली मारी. तीनों की तरफ से 10 राउंड फायर किया गया. सबसे पहले अतीक के सिर पर गोली मारी गई और फिर अशरफ को ढेर कर दिया गया. अतीक और अशरफ को मौत की नींद सुलाने के बाद तीनों हत्यारों ने भागने की कोशिश न करते हुए खुद को सरेंडर कर दिया. युवकों की पहचान लवलेश तिवारी, सन्नी और अरुण मौर्य के रूप में हुई है. तीनों से पूछताछ की जा रही है. तीनों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली गई है. 

Advertisment



तीनों हैं शातिर अपराधी!

जानकारी के मुताबिक तीनों का भी अपराधिक रिकॉर्ड काफी बड़ा है. तीनों पर ही हत्या, लूट जैसे कई मामले पहले से ही दर्ज हैं. मिली जानकारी के मुताबिक तीनों हत्यारों कई बार जेल भी जा चुके हैं और जेल में ही तीनों की दोस्ती हुई थी. अतीक और अशरफ की हत्या करके डॉन बनना चाहते थे. वहीं तीनों ही वारदात की जगह यानी प्रयागराज के रहने वाले नहीं हैं. प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, लवलेश तिवारी बांदा का, सन्नी कासगंज का और अरुण मौर्य हमीरपुर का रहने वाला है.

Advertisment



'बड़ा माफिया बनना चाहते हैं'

जानकारी के मुताबिक, पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अतीक को मारने की वजह के सवाल में जवाब दिया कि 'वो बड़ा माफिया बनना चाहते हैं और इसलिए उन्होंने इस वारदात को अंजाम दिया. आरोपियों ने बताया कि कब तक छोटे मोटे शूटर रहेंगे बड़ा माफिया बनना है इसलिए उन्होंने एक बड़े हत्याकांड को अंजाम दिया'. लेकिन पुलिस अभी पूरी तरह से इनके बयानों पर भरोसा नहीं कर रही.

Advertisment



लवलेश के घर पहुंची पुलिस

पुलिस ने अतीक और अशरफ पर गोली चलाने वाले लवलेश के घर का पता लगा लिया है. पुलिस लवलेश के घर पहुंची. वहां मौजूद लवलेश के पिता यज्ञ तिवारी ने कहा कि वो(लवलेश) वहां कैसे पहुंचा इसकी हमें कोई जानकारी नहीं है और हमें उससे कोई मतलब नहीं था. वो नशे का आदी है. हम उसके बारे में कुछ नहीं जानते. लवलेश तिवारी की मां आशा ने कहा, "पता नहीं उसके नसीब में क्या लिखा था"

Advertisment





Advertisment

लवलेश तिवारी के भाई ने किए कई खुलासे

वहीं मामले में जब लवलेश तिवारी के भाई से बात की गई तो उसने बताया कि एक हफ्ते पहले से ही वो घर से लापता है. लवलेश तिवारी जनपद में कई मामलों में जेल भी जा चुके है.



Advertisment



वहीं हमीरपुर में मौजूद अन्य आरोपी सनी सिंह के भाई पिंटू सिंह ने बताया कि मेरे भाई के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं. मुझे नहीं पता था कि मेरा भाई अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या में शामिल है. हम लोग 3 भाई थे जिसमें से एक की मृत्यु हो गई. यह ऐसे ही घूमता-फिरता रहता था और फालतू के काम करता रहता था. हम उससे अलग रहते हैं और बचपन में ही भाग गया.







prayagraj-shootout uttar-pradesh-news atiq-ahmed-murder atiq-ahmed-killers atiq-killers-family
Advertisment