Advertisment

मुरादाबाद शहर में चर्चा का विषय हसीन की बेवफा चाय

Mian Hasin Akhtar's shop near Gulab Masjid, Moradabad, where a large number of people reach here every morning and evening to sip tea | यूं तो चाय का जायका हमेशा दिमाग को फ्रेश करता है लेकिन किसी ने नहीं सोचा था इस धंधे का प्यार में चोट खाए लोगों से भी कोई वास्ता हो सकता है जी हां एक ऐसा ही नजारा देखने को मिलता है जिला मुरादाबाद के गुलाब मस्जिद के पास मियां हसीन अख्तर की दुकान पर जहां हर रोज यहां काफी संख्या में सुबह और शाम चाय की चुस्कियां लेने लोग पहुंचते हैं लेकिन उसमें अधिकतर संख्या नौजवानों की होती है जिनका सरोकार अपने साथी की बेवफाई के गम को दूर करने से होता है

author-image
Bhanu Prakash
Updated On
New Update
मुरादाबाद शहर में चर्चा का विषय हसीन की बेवफा चाय

मुरादाबाद -:  यूं तो चाय का जायका हमेशा दिमाग को फ्रेश करता है लेकिन किसी ने नहीं सोचा था इस  धंधे का प्यार में चोट खाए लोगों से भी कोई वास्ता हो सकता है जी हां एक ऐसा ही  नजारा देखने को मिलता है जिला मुरादाबाद के गुलाब मस्जिद के पास मियां हसीन अख्तर की दुकान पर जहां हर रोज यहां काफी संख्या में सुबह और शाम चाय की चुस्कियां लेने लोग पहुंचते हैं लेकिन उसमें अधिकतर संख्या नौजवानों की होती है जिनका सरोकार अपने साथी की बेवफाई के गम को दूर करने से होता है

   शहर के बीच में स्थित काठ रोड पर गुलाब मस्जिद के नीचे अधेड़ उम्र के हसीन अख्तर काफी समय से चाय की दुकान चला रहे हैं लेकिन यह दुकान अन्य चाय की दुकानों से इसलिए अलग है क्योंकि इसका नाम "हसीन की बेवफा चाय"  है! इसके नाम का कुछ अलग होना ही शहर में चर्चा का विषय भी बना रहता है बात करने पर पता चलता है कि पिछले कई वर्षों से वह यह धंधा कर रहे हैं जिसमें अलग-अलग तरह की चाय बनाई जाती हैं और चाय की कीमत भी महज ₹10 होती है लेकिन स्पेशल बात यह है कि प्यार में चोट खाए लोगों के लिए यह चाय मात्र ₹5 में दी जाती है जिस के कारण शहर में  बेवफा चायवाला काफी चर्चित है हालांकि लोगों का यह भी मानना है कि हसीन ने किसी चर्चा में बने रहने के लिए अपनी दुकान का नाम हसीन की बेवफा चाय नहीं रखा है

haseen-ki-bewafa-chai-in-up moradabad-haseen-ki-bewafa-chai moradabad-news
Advertisment