Sun, Apr 14, 2024

मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य जोरों पर, जिला और मंडलीय चिकित्सालय को किया जा रहा अपग्रेड

By  Shagun Kochhar -- April 20th 2023 03:57 PM -- Updated: April 20th 2023 05:20 PM
मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य जोरों पर, जिला और मंडलीय चिकित्सालय को किया जा रहा अपग्रेड

मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य जोरों पर, जिला और मंडलीय चिकित्सालय को किया जा रहा अपग्रेड (Photo Credit: File)

लखनऊ: एक जिला, एक मेडिकल कॉलेज योजना पर युद्धस्तर पर काम कर रही योगी सरकार हर गुजरते दिन के साथ अपने लक्ष्य की ओर बढ़ जा रही है। फिलहाल तीन फेज में प्रदेश के 27 जिलों में मंडलीय एवं जिला चिकित्सालयों को अपग्रेड कर मेडिकल कॉलेज बनाया जा रहा है, जिसमें से फेज वन के पांच और टू के 8 मेडिकल कॉलेज रनिंग में हैं और उनका निर्माण कार्य करीब-करीब पूरा हो चुका है। मालूम हो कि विभाग की ओर से फेज वन के 5 और फेज टू के 8 नवनिर्मित मेडिकल कॉलेज को क्रमश: चार और दो वर्ष पहले ही मान्यता मिल गयी थी। वहीं तीसरे फेज के 14 चिकित्सालयों का काम करीब 60 प्रतिशत से अधिक पूरा हो चुका है। विभाग द्वारा फेज तीन के मेडिकल कॉलेज की मान्यता के लिए इस साल अप्लाई किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में बेहतर और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता में आने के बाद वन डिस्ट्रिक्ट वन मेडिकल कॉलेज की नीति पर काम शुरू कर दिया था। इसी के तहत चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंतर्गत प्रदेश के जिला और मंडलीय चिकित्सालय को अपग्रेड किया जा रहा है।


फेज वन के मेडिकल कॉलेज का लगभग निर्माण पूरा  

फेज वन के राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज अयोध्या और महर्षि वशिष्ठ स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय बस्ती के कॉलेज और चिकित्सालय परिसर का काम पूरा हो चुका है। वहीं राजकीय मेडिकल कॉलेज शाहजहांपुर के कॉलेज परिसर में मल्टी हाल के अलावा सारे काम पूरे हो चुके हैं। इसी तरह महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं महर्षि बालार्क चिकित्सालय बहराइच के कॉलेज परिसर का काम पूरा हो गया है जबकि चिकित्सालय परिसर में जेआर-एसआर का काम भी लगभग पूरा हो गया है। वहीं 35 प्रतिशत चिकित्सालय भवन का पूरा हो चुका है।  वहीं मेडिकल कॉलेज फिरोजाबाद के कॉलेज के सभी निर्माण कार्य पूरे हो चुके हैं जबकि चिकित्सालय परिसर का 20 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। मेडिकल कॉलेज फिरोजाबाद के चिकित्सालय भवन के स्ट्रक्चर का कार्य पूर्ण जबकि फिनिशिंग का कार्य चल रहा है। इसी तरह कॉलेज परिसर के आंशिक कार्य शेष हैं।


फेज 2 के ये हैं मेडिकल कॉलेज

चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंतर्गत बनाए जा रहे फेज 2 के माँ विन्ध्यवासिनी स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय मिर्जापुर, महर्षि विश्वामित्र स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय गाजीपुर, स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय हरदोई, माधव प्रसाद त्रिपाठी चिकित्सा महाविद्यालय सिद्धार्थनगर, महर्षि देवरहा बाबा राजकीय मेडिकल कॉलेज देवरिया, वीरांगना अवंतीबाई लोधी स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एटा, राजकीय मेडिकल कॉलेज प्रतापगढ़ के कॉलेज और अस्पताल परिसर का काम पूरा हो चुका है। इसके साथ ही बिल्डिंग को विभाग को हस्तांतरित किया जा चुका है। वहीं अमर शहीद जोधा सिंह अटैया ठाकुर दरियाव सिंह चिकित्सा महाविद्यालय फतेहपुर का 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है, शेष 10 प्रतिशत काम जून में पूरा कर लिया जाएगा।


इन जिलों में चल रहा फेज तीन के मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य  

फेज तीन का काम प्रदेश के 14 जिलों में युद्धस्तर पर चल रहा है, जिसका ओवर ऑल लगभग 60 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। फेज तीन में कुशीनगर, कौशांबी, सुल्तानपुर, कानपुर देहात, ललितपुर, पीलीभीत, औरेया, सोनभद्र, लखनऊ, बुलंदशहर, गोंडा, बिजनौर, चंदौली और लखीमपुर खीरी में मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसका निर्माण कार्य लोक निर्माण विभाग की ओर से किया जा रहा है।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो