Sat, May 25, 2024

मुसलमानों को अगर यूनिफॉर्म सिविल कोड से है दिक़्क़त, तो चले जाएं पाकिस्तान: शिशिर चतुर्वेदी

By  Mohd. Zuber Khan -- December 16th 2022 12:45 PM -- Updated: December 16th 2022 04:16 PM
मुसलमानों को अगर यूनिफॉर्म सिविल कोड से है दिक़्क़त, तो चले जाएं पाकिस्तान: सुशील चतुर्वेदी

मुसलमानों को अगर यूनिफॉर्म सिविल कोड से है दिक़्क़त, तो चले जाएं पाकिस्तान: शिशिर चतुर्वेदी (Photo Credit: File)

लखनऊ: अखिल भारत हिंदू महासभा ने मुस्लिम धर्म गुरुओं द्वारा यूनिफॉर्म सिविल कोड का लगातार विरोध करने के मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी है। महासभा ने मुस्लिम धर्म गुरुओं को 'आडेय हाथों' लेते हुए उन पर तंज़ कसते हुए कहा कि 'जो मुस्लिम इसका विरोध कर रहे हैं वो पाकिस्तान चले जाएं क्योंकि पाकिस्तान आज भी उनके लिए एक विकल्प के तौर पर है।'

अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने लखनऊ में कहा, "हिंदू महासभा का आज़ादी के पहले से मानना है कि एक देश, एक निशान और एक प्रधान और आज उसी नीति के तहत केंद्र की मोदी सरकार कॉमन सिविल कोड लागू करने की बात कह रही है, लेकिन मुस्लिम धर्म के मौलाना इस कॉमन सिविल कोड को देश को तोड़ने वाला बता रहे हैं।"

शिशिर चतुर्वेदी ने आगे कहा, "जब यह सिविल कोड सभी धर्म के लोगों पर सामान्य रूप से लागू होगा तो इस पर आपत्ति किस बात की है? आज भी जो लोग इस तरीक़े की चीज़ों का विरोध करते हैं उनके लिए पाकिस्तान देश एक विकल्प के रूप में है, क्योंकि देश का बंटवारा धर्म के नाम पर हुआ था तो ऐसे में जिन लोगों को देश के झंडे से, निशान से और पहचान से दिक़्क़त है तो वह पाकिस्तान जा सकते हैं।"

हालांकि ना केवल मुस्लिम समुदाय, बल्कि भारत के किसी भी समुदाय को देश के झंडे से, निशान से और पहचान से कोई दिक़्क़त है, ना ही, इस तरह का कोई मामला सामने आया है, लेकिन यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर मुसलमानों के लिए कई समुदाय आपत्ति दर्ज कराते रहे हैं, जिस पर जब-तब जमकर राजनीति भी हुई है।

-PTC NEWS

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो