Tue, Mar 28, 2023

सपा नेता मनीष यादव पतरे को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस, कार्यकर्ताओं ने किया जमकर हंगामा

By  Shivesh jha -- March 18th 2023 08:44 PM
सपा नेता मनीष यादव पतरे को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस, कार्यकर्ताओं ने किया जमकर हंगामा

सपा नेता मनीष यादव पतरे को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस, कार्यकर्ताओं ने किया जमकर हंगामा (Photo Credit: File)

इटावा जिला स्थित थाना चौबिया क्षेत्र के कटैयापुर चौराहे पर स्थित मंदिर के पास से सपा नेता मनीष यादव 'पतरे' को पुलिस ने गिरफ्तार करने का प्रयास किया जिसके बाद सपा कार्यकर्त्ता और पुलिस के बीच जमकर हंगामा हुआ। सपा नेता ने आरोप लगाया है कि सहकारी समिति चुनाव के मद्देनजर पुलिस जबरन गिरफ्तार कर जेल भेजना चाह रही है, जबकि पुलिस ने को निराधार बताया है।

मनीष यादव पतरे ने कहा कि शुक्रवार की सुबह वह मंदिर पर थे तभी थानाध्यक्ष चौबिया गोविंद हरी वर्मा मंदिर पर पहुंचे और सीओ के बुलावे की बात कर साथ ले जाने का प्रयास करने लगे। उन्होंने कहा कि जब मैंने जाने से इनकार किया तो आरोप लगाया गया कि सहकारी समिति के चुनाव में रिटर्निंग ऑफिसर को धमकी दी गई है इसलिए गिरफ्तार करने आए हैं। 

बताया जा रहा है कि सपा नेता और थानाध्यक्ष के बीच इसी बात को लेकर नोकझोंक हुई, उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस उन्हें दो दिन से गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि उनके भाई ब्रजवीर यादव संचालक पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं और अध्यक्ष पद के दावेदार हैं। भाजपा इस चुनाव को सता पक्ष में कराना चाहती है इसलिए पुलिस बल का गलत इस्तेमाल कर मुझे गिरफ्तार करना चाह रही है।

सपा नेता ने सत्ता पक्ष के इशारे पर कार्यकर्ताओं को डराने धमकाने और मतदान को प्रभावित करने का आरोप लगाया है। मनीष यादव ने कहा कि पुलिस के बल पर भाजपा चुनाव को प्रभावित करने की साजिश कर रही है, उन्होंने कहा कि हम डरने वाले नहीं हैं सपा कार्यकर्ता गुंडे का डर कटकर सामना करने के लिए तैयार है। 

हंगामे के बाद जसवंत नगर विधानसभा के विधायक शिवपाल सिंह यादव के पुत्र आदित्य यादव पार्टी के कार्यकर्ताओं सहित क्षेत्राधिकारी नागेंद्र चौबे से मिले और उन्होंने अपनी बात रखी। पुलिस ने सपा नेता मनीष यादव से लिखित में लिया कि वह किसी चुनाव में कोई जनसभा और कानून का उल्लंघन नहीं करेंगे और अपने घर तथा मंदिर पर ही रहेंगे।

क्षेत्राधिकारी नागेंद्र चौबे ने बताया कि किसी को भी पकड़ने का प्रयास नहीं किया गया है। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए थानाध्यक्ष पूछताछ के लिए बुलाया होगा।

  • Share

Latest News

Videos