Sat, May 25, 2024

डॉन बदन सिंह बद्दो ने कराई थी जीवा की कोर्ट परिसर में हत्या, 600 पन्नों की चार्जशीट दाखिल

By  Shagun Kochhar -- September 3rd 2023 04:18 PM -- Updated: September 3rd 2023 04:19 PM
डॉन बदन सिंह बद्दो ने कराई थी जीवा की कोर्ट परिसर में हत्या, 600 पन्नों की चार्जशीट दाखिल  लखनऊ/जय कृष्ण: पश्चिमी यूपी के कुख्यात बदमाश संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा हत्याकांड मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। जीवा हत्याकांड मामले में लखनऊ पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। जानकारी के मुताबिक, संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा की हत्या बदन सिंह बद्दो ने सुपारी देकर कराई थी। जिसकी साजिश नेपाल में रची गई। कोर्ट परिसर में संजीव महेश्वरी पर गोलियां बरसाने वाले आरोपी विजय यादव ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि पैसों के लालच में उसने हत्याकांड की वारदात को अंजाम दिया।   बीते 7 जून को बीजेपी नेता ब्रह्म दत्त हत्याकांड के आरोपी संजीव जीवा की लखनऊ सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान गोली मारकर हत्या की गई थी। इस फायरिंग से कोर्ट कैंपस में मौजूद डेढ़ साल की बच्ची और कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे। चार्जशीट के मुताबिक, बदन सिंह बद्दो ने पुरानी रंजिश में संजीव जीवा की कोर्ट में हत्या करवाई थी। बता दें कि बदन सिंह बद्दो यूपी के टॉप अपराधियों की सूची में शामिल है। पुलिस की चार्जशीट में यह भी लिखा है कि रिवाल्वर बदन सिंह ने ही मुहैया कराया था। उससे ही हत्या की पुष्टि फोरेंसिक विशेषज्ञों ने भी की है।  संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा हत्याकाण्ड की विवेचना कर रहे वजीरगंज इंस्पेक्टर ने शनिवार को कोर्ट में 600 पन्ने की चार्जशीट दाखिल की है। जीवा हत्याकाण्ड में गैंगस्टर बदन सिंह को नामजद करके धारा 120 बी भी बढ़ा दी गई है। हालांकि इस हत्याकाण्ड की जांच SIT कर रही है। नेपाल में असलम के जरिए शूटर विजय यादव की बदन सिंह बद्दो से मुलाकात हुई थी। बदन सिंह बद्दो और संजीव जीवा के बीच लंबे समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में वसूली को लेकर रंजिश चली आ रही थी। पुलिस ने संजीव महेश्वरी जीवा हत्याकांड में बदन सिंह बद्दो के साथ नेपाल के मददगार असलम और लखनऊ के एक मददगार को साजिश रचने का आरोपी बनाया है। संजीव जीवा माहेश्वरी ने बदन सिंह बद्दो के द्वारा हत्या किए जाने के डर से ही मुजफ्फरनगर कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेशी कराने को लेकर अर्जी दी थी। संजीव महेश्वरी जीवा की हत्या के लिए 50 लाख रुपए और असलहा नेपाल में मुहैया कराया गया था।  करीब दो साल से बदन सिंह बद्दों के नेपाल, बैंकांक, दुबई और मलेशिया में उसके होने की सूचनाएं मिलती रही। बता दें कि 28 मार्च 2019 को गाजियाबाद से पेशी से लौटते वक्त उसने एक होटल में पुलिस वालों को शराब पिलाई और फिर लग्जरी गाड़ी से भाग निकला। उसके खिलाफ करीब 47 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस बदन सिंह बद्दो के बारे में जानकारी जुटा रही है। वहीं दूसरी तरफ जांच एजेंसियां भी चौकन्ना हो गई है।

डॉन बदन सिंह बद्दो ने कराई थी जीवा की कोर्ट परिसर में हत्या, 600 पन्नों की चार्जशीट दाखिल (Photo Credit: File)

लखनऊ/जय कृष्ण: पश्चिमी यूपी के कुख्यात बदमाश संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा हत्याकांड मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। जीवा हत्याकांड मामले में लखनऊ पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। जानकारी के मुताबिक, संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा की हत्या बदन सिंह बद्दो ने सुपारी देकर कराई थी। जिसकी साजिश नेपाल में रची गई। कोर्ट परिसर में संजीव महेश्वरी पर गोलियां बरसाने वाले आरोपी विजय यादव ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि पैसों के लालच में उसने हत्याकांड की वारदात को अंजाम दिया। 


बीते 7 जून को बीजेपी नेता ब्रह्म दत्त हत्याकांड के आरोपी संजीव जीवा की लखनऊ सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान गोली मारकर हत्या की गई थी। इस फायरिंग से कोर्ट कैंपस में मौजूद डेढ़ साल की बच्ची और कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे। चार्जशीट के मुताबिक, बदन सिंह बद्दो ने पुरानी रंजिश में संजीव जीवा की कोर्ट में हत्या करवाई थी। बता दें कि बदन सिंह बद्दो यूपी के टॉप अपराधियों की सूची में शामिल है। पुलिस की चार्जशीट में यह भी लिखा है कि रिवाल्वर बदन सिंह ने ही मुहैया कराया था। उससे ही हत्या की पुष्टि फोरेंसिक विशेषज्ञों ने भी की है।


संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा हत्याकाण्ड की विवेचना कर रहे वजीरगंज इंस्पेक्टर ने शनिवार को कोर्ट में 600 पन्ने की चार्जशीट दाखिल की है। जीवा हत्याकाण्ड में गैंगस्टर बदन सिंह को नामजद करके धारा 120 बी भी बढ़ा दी गई है। हालांकि इस हत्याकाण्ड की जांच SIT कर रही है। नेपाल में असलम के जरिए शूटर विजय यादव की बदन सिंह बद्दो से मुलाकात हुई थी। बदन सिंह बद्दो और संजीव जीवा के बीच लंबे समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में वसूली को लेकर रंजिश चली आ रही थी। पुलिस ने संजीव महेश्वरी जीवा हत्याकांड में बदन सिंह बद्दो के साथ नेपाल के मददगार असलम और लखनऊ के एक मददगार को साजिश रचने का आरोपी बनाया है। संजीव जीवा माहेश्वरी ने बदन सिंह बद्दो के द्वारा हत्या किए जाने के डर से ही मुजफ्फरनगर कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेशी कराने को लेकर अर्जी दी थी। संजीव महेश्वरी जीवा की हत्या के लिए 50 लाख रुपए और असलहा नेपाल में मुहैया कराया गया था।


करीब दो साल से बदन सिंह बद्दों के नेपाल, बैंकांक, दुबई और मलेशिया में उसके होने की सूचनाएं मिलती रही। बता दें कि 28 मार्च 2019 को गाजियाबाद से पेशी से लौटते वक्त उसने एक होटल में पुलिस वालों को शराब पिलाई और फिर लग्जरी गाड़ी से भाग निकला। उसके खिलाफ करीब 47 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस बदन सिंह बद्दो के बारे में जानकारी जुटा रही है। वहीं दूसरी तरफ जांच एजेंसियां भी चौकन्ना हो गई है।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो