Advertisment

उत्तर प्रदेश में निजी क्षेत्र के निवेशकों के लिए 17 हवाई पट्टियों को मिली मंजूरी

राज्य नागरिक उड्डयन क्षेत्र को एक बड़ा बढ़ावा देते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने निजी क्षेत्र के निवेश के लिए 17 हवाई अड्डों और हवाई पट्टियों को खोल दिया है।

author-image
Shivesh jha
Updated On
New Update
उत्तर प्रदेश में निजी क्षेत्र के निवेशकों के लिए 17 हवाई पट्टियों को मिली मंजूरी

राज्य नागरिक उड्डयन क्षेत्र को एक बड़ा बढ़ावा देते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने निजी क्षेत्र के निवेश के लिए 17 हवाई अड्डों और हवाई पट्टियों को खोल दिया है। ब्लूप्रिंट के तहत इन हवाई पट्टियों के साथ हैंगर अब निजी कंपनियों द्वारा विमानन प्रशिक्षण संस्थानों, एयरो स्पोर्ट्स सेंटर, एविएशन एमआरओ (रखरखाव मरम्मत और ओवरहाल) सुविधाओं आदि को संचालित करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

Advertisment

हवाई पट्टियां अलीगढ़, इटावा, कानपुर देहात, फर्रुखाबाद, श्रावस्ती, आजमगढ़, अंबेडकर नगर, सुल्तानपुर, गाजीपुर, खीरी, चित्रकूट, सोनभद्र, झांसी, ललितपुर, मेरठ, मुरादाबाद और अयोध्या जिलों में स्थित हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक ने हाल ही में इस आशय के एक प्रस्ताव को मंजूरी दी है। नई नीति में क्रमशः विमानन प्रशिक्षण संस्थान और एमआरओ इकाइयों की स्थापना के लिए न्यूनतम 1,000 वर्ग मीटर और 200 वर्ग मीटर क्षेत्र का उपयोग अनिवार्य है। 

इसी तरह निजी पार्टियों द्वारा हवाई खेल गतिविधियों के संचालन के लिए अस्थायी आधार पर 50 वर्ग मीटर क्षेत्र आवंटित किया जाएगा। यूपी सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यदि अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता होती है तो उपलब्ध भूमि बैंक और नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा मामला-दर-मामला आधार पर प्रचलित भूमि पट्टे के किराये के आधार पर प्रदान किया जाएगा।

इस बीच पिछले पांच वर्षों में पर्यटकों की आमद में 27 प्रतिशत की वृद्धि के बाद यूपी सरकार उड्डयन क्षेत्र में तेजी से बढ़ रही है। इस अवधि के दौरान राज्य में लगभग 1.25 बिलियन घरेलू और 12.5 मिलियन विदेशी बैकपैकर्स का आगमन हुआ है।

इस संदर्भ में व्यापार और अवकाश दोनों हवाई यात्रा से निवेश को आकर्षित करने, महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे में तेजी लाने और रोजगार सृजित करने से सामाजिक आर्थिक परिदृश्य को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। जबकि यूपी में पहले से ही लखनऊ, वाराणसी और तीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं, जबकि कुशीनगर, अयोध्या और जेवर में दो और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे निर्माणाधीन हैं।

up-government cm-yogi private-sector-investors 17-airports-for-private-sector-investment-in-up
Advertisment