Tue, May 28, 2024

ज़रुरतमंदों के काम आए होमगार्ड मंत्री, ठिठुरन भरी सर्दी में क़ैदियों को दिया तोहफ़ा

By  Mohd. Zuber Khan -- January 14th 2023 06:31 PM
ज़रुरतमंदों के काम आए होमगार्ड मंत्री, ठिठुरन भरी सर्दी में क़ैदियों को दिया तोहफ़ा

ज़रुरतमंदों के काम आए होमगार्ड मंत्री, ठिठुरन भरी सर्दी में क़ैदियों को दिया तोहफ़ा (Photo Credit: File)

लखनऊ/जय कृष्णा: यूपी के कारागार एवं होमगार्ड्स राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्मवीर प्रजापति ने आज लखनऊ ज़िला जेल में कंबल वितरण किया और क़ैदियों से बातचीत कर उनका हाल-चाल जाना। उन्होंने संवाद के दौरान क़ैदियों से ग़लती ना करने की अपील की और कहा कि आप संकल्प लें कि यहां से बाहर एक अच्छा इंसान बनकर निकलें, आपकी एक ग़लती से आपका पूरा परिवार बहुत मुश्किल में ज़िंदगी गुज़ारता है।

धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि “मनुष्य को उसके अच्छे कर्मों का फल ज़रूर मिलता है, आप अपना आचरण सुधारें, जिससे कि आपका शेष जीवन और अगला जन्म दोनों सुधर सकें, जेलों में बहुत से ऐसे बंदी हैं, जिनसे मिलने या तो कोई नहीं आता या साल-6 महीने में कभी-कभार कोई आता है, ऐसे क़ैदियों को कंबल मिलना चाहिए, उनको कंबल मिले इसके लिए हमने स्वयंसेवी संस्थाओं से वार्ता की और कंबल वितरण का कार्यक्रम रखवाया, हमारे जेल प्रशासन के लोग भी कंबल वितरण का कार्य कर रहे हैं।” 

ये भी पढे़ं:- त्रेतायुग से चली आ रही है गुरु गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाने की परंपरा का सच

धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि समाज को भी बदलने की ज़रूरत है, लोगों को कोशिश करनी चाहिए कि छोटे-मोटे झगड़े आपसी कोशिशों से ही सुलझाएं, जिससे कि अनायास लोगों को जेल न जाना पड़े, तभी इसमें सकारात्मक परिवर्तन आएगा और जेलों में भीड़ भी तभी कम होगी। उन्होंने कहा कि जेलों में ग़रीब परिवार के बच्चे ज़्यादा बंद है, यह अगर बाहर होते तो अपने परिवार की आय का साधन बनते। परिवार की आर्थिक स्थिति मज़बूत करने में मदद करते और मां-बाप को आराम मिलता।

मकर संक्रांति के इस मौक़े पर 110 कम्बल मंत्री धर्मवीर प्रजापति के सौजन्य से, 700 अंग वस्त्र (स्वेटर,सलवार, पेंट शर्ट इत्यादि) सौभाग्य फाउंडेशन की सिम्मी प्रजापति और एच०ए०एल एसोसिएशन एससी/एसटी की ओर से, 100 कंबल ऑलमाइटी शिवा एसोसिएशन के आदित्य पचौरी, राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के प्रवेश भारद्वाज द्वारा 100 कंबल, आदिल विश्व गायत्री परिवार की तरफ़ से 1000 साहित्यिक पुस्तकें भी बांटी गई।

-PTC NEWS

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो