Fri, Apr 19, 2024

बदइंतजामी पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक हुए खफा, चिकित्सा अधीक्षक को हटाया

By  Shagun Kochhar -- June 13th 2023 11:10 AM
बदइंतजामी पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक हुए खफा, चिकित्सा अधीक्षक को हटाया

बदइंतजामी पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक हुए खफा, चिकित्सा अधीक्षक को हटाया (Photo Credit: File)

लखनऊ: डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक एक्शन मोड में है. ब्रजेश पाठक अस्पतालों में किसी भी तरह की लापरवाही को बर्दाश्त न करने की चेतावनी दे चुके हैं. इसी के चलते एक शिकायत पर संज्ञान लेते हुए चिकित्सा अधीक्षक को हटा दिया.


डिप्टी सीएम का एक्शन

गुजरात दौरे के बावजूद डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक लगातार प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं की निगरानी कर रहे हैं. लापरवाह कर्मचारियों पर शिकंजा कस रहे हैं. वहीं इस दौरान डिप्टी सीएम को शिकायत मिली की रायबरेली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में गर्भवती महिला को समुचित इलाज नहीं मिला. जिस पर संज्ञान लेते हुए डिप्टी सीएम ने जांच के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक को हटा दिया गया. इसके बाद विस्तृत जांच के आदेश दिए गए.


दरअसल, रायबरेली के महाराजगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में गर्भवती महिला को इमरजेंसी में पुख्ता इलाज नहीं मिला. आरोप हैं कि गर्भवती महिला स्ट्रेचर पर तड़प रही थी. इसके बावजूद डॉक्टर ने समुचित इलाज उपलब्ध नहीं कराया. घटना प्रकाश में आने के बाद डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने रायबरेली सीएमओ को मामले की जांच के आदेश दिए. शुरुआती जांच में आरोप सही मिले. जिसके बाद डिप्टी सीएम ने चिकित्सा अधीक्षक को हटाने के निर्देश दिए. साथ ही पूरे प्रकरण की जांच कर विस्तृत रिपोर्ट दो दिन के अंदर सौंपने को कहा है. साथ ही चिकित्सक या स्वास्थ्यकर्मी के दोषी पाए जाने पर उनके विरुद्ध भी कठोर कार्रवाई करने की बात कही है. 


डिप्टी सीएम के सख्त निर्देश

डिप्टी सीएम ने कहा कि महाराजगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की पहले भी शिकायत मिल चुकी हैं. चेतावनी के बाद भी कार्यशैली में सुधार नहीं आया. उन्होंने कहा कि इस तरह के लापरवाह अफसरों और कर्मचारियों को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जाएगा.


इमरजेंसी में मुहैया कराये समुचित इलाज

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि इमरजेंसी में आने वाले सभी मरीजों को तुरंत इलाज उपलब्ध कराया जाए. इसमें किसी भी तरह की चूक नहीं होनी चाहिए. जिन गंभीर मरीजों का इलाज अस्पताल में संभव न हो उन्हें प्राथमिक इलाज मुहैया कराकर एम्बुलेंस से उच्च सेंटर में रेफर किया जाए. सुबह आठ से दो बजे तक ओपीडी का संचालन किया जाएगा. डिप्टी सीएम ने निर्देश दिए कि समय पर डॉक्टर और कर्मचारी ड्यूटी पर पहुंचे, लेटलतीफी किसी भी दशा भी ठीक नहीं है.


फर्श पर बैठे मरीज के वायरल वीडियो का भी संज्ञान

गोंडा जिला अस्पताल की इमरजेंसी में फर्श पर बैठे मरीज का वीडियो वायरल हुआ. इसमें मरीज के पैर से खून का रिसाव हो रहा है. डिप्टी सीएम ने अस्पताल के सीएमएस से तत्काल मरीज को समुचित इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए. साथ ही इमरजेंसी में इलाज मुहैया कराने में देरी के कारणों की जांच के आदेश दिये हैं.

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो