Sun, Apr 14, 2024

योगी कार्यकाल में प्रदेशभर में 10 हजार पुलिस एनकाउंटर दर्ज, 30 फीसदी अकेले मेरठ जोन का मामला

By  Shivesh jha -- March 17th 2023 06:42 AM
योगी कार्यकाल में प्रदेशभर में 10 हजार पुलिस एनकाउंटर दर्ज, 30 फीसदी अकेले मेरठ जोन का मामला

योगी कार्यकाल में प्रदेशभर में 10 हजार पुलिस एनकाउंटर दर्ज, 30 फीसदी अकेले मेरठ जोन का मामला (Photo Credit: File)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के पिछले छह वर्षों में उत्तर प्रदेश में अपराधियों के 10,000 से अधिक पुलिस मुठभेड़ हुए हैं। इन मुठभेड़ों में 178 सूचीबद्ध अपराधियों को जवाबी कार्रवाई में मार गिराया गया। उनमें से ज्यादातर की गिरफ्तारी पर 75,000 रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक का नकद इनाम था।

एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि मुठभेड़ों की संख्या के मामले में, मेरठ जोन 2017 के बाद से सबसे अधिक 3,152 मुठभेड़ों के साथ राज्य में शीर्ष पर है, जिसमें 63 अपराधी मारे गए और 1,708 अपराधी घायल हुए।

राज्य भर में पुलिस ने 20 मार्च 2017 और 6 मार्च 2023 के बीच हुई मुठभेड़ों में 23,069 बदमाशों को गिरफ्तार किया। इन मुठभेड़ों में 4,911 अपराधी घायल हुए। इसी अवधि में 13 पुलिसकर्मियों ने अपनी जान गंवाई, जबकि अन्य 1,424 पुलिसकर्मियों को गोलियां लगीं।

पांच लाख रुपये के नकद इनाम वाले दो अपराधी, ढाई लाख रुपये के चार, दो लाख रुपये के दो, डेढ़ लाख रुपये के छह और एक लाख रुपये के नकद इनाम वाले 27 अपराधियों के साथ ही कई अन्य पर 75 हजार रुपये का इनाम था। योगी आदित्यनाथ ने जैसे ही राज्य की बागडोर संभाली, राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार उनकी प्राथमिकता बन गई। 

उनकी सरकार ने माफिया और अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई और राज्य की कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए ऐसे तत्वों पर कार्रवाई तेज कर दी। गौरतलब है कि जीआईएस-23 के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिग्गज नेताओं और निवेशकों ने यूपी की कानून व्यवस्था की तारीफ की थी। 

यूपी पुलिस ने अपराध पर अंकुश लगाने और अपराधियों पर नकेल कसने के लिए योजनाबद्ध और चरणबद्ध तरीके से काम किया और मुठभेड़ सबसे बड़ी रणनीति थी, जिससे अपराधियों में डर पैदा हो गया, जिसके बाद वे राज्य से भागने लगे।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो