Sat, May 25, 2024

यूपी में बारिश से हाल बेहाल, लखनऊ में धंसी सड़क, सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित, सड़कों से लेकर सरकारी दफ्तरों में जलभराव

By  Shagun Kochhar -- September 11th 2023 03:21 PM
यूपी में बारिश से हाल बेहाल, लखनऊ में धंसी सड़क, सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित, सड़कों से लेकर सरकारी दफ्तरों में जलभराव

यूपी में बारिश से हाल बेहाल, लखनऊ में धंसी सड़क, सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित, सड़कों से लेकर सरकारी दफ्तरों में जलभराव (Photo Credit: File)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आज मौसम ने करवट ली है. लखनऊ के साथ साथ कई अन्य जिलों में जमकर बारिश हो रही है. बारिश का ये दौर पिछले 24 घंटे से जारी है. वहीं इस बारिश ने प्रशासन की पोल खोलकर रख दी है.


लखनऊ हुआ पानी-पानी

राजधानी लखनऊ में बीती देर रात से लगातार तेज बारिश हो रही है. लखनऊ में बारिश के कारण कई घरों और अस्पतालों में पानी घुस जाने की खबर सामने आई है. वहीं 1090 चौराहे के पास सड़क धंस गई है. शहर में जगह-जगह जलभराव हो गया है. साथ ही कई इलाकों में घरों में बारिश का पानी घुस गया है. जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं तेज हवाओं के कारण सड़कों पर पेड़ गिर गए हैं. साथ ही बिजली आपूर्ति भी बाधित हो गई है. वहीं शहर के हालातों को देखते हुए स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है.


मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, अयोध्या समेत 31 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी कर दिया है. 


एटा में गिरा मकान, बाल-बाल बचा परिवार

वहीं एटा में 48 घंटों से रुक रुक कर हो रही बारिश के चलते जिले में कई कच्चे मकान भरभरा कर गिर गए. वहीं एक कच्चे मकान में सो रहे लोग बाल बाल बचे. ये घटना थाना सकीट क्षेत्र के अहमदपुर ऊर्फ नगला धनु की है. कच्चा मकान गिरने से मलबे में घर का सारा सामान दब गया. जिससे भारी नुकसान हुआ है. बताया जा रहा है कि जब गिरा उस वक्त पूरा परिवार घर में सो रहा था. हादसे में परिवार की जान बाल-बाल बची. 


मुख्यमंत्री ने बारिश के दृष्टिगत अधिकारियों को दिए निर्देश

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बारिश के दृष्टिगत संबंधित जनपदों के अधिकारियों को पूरी तत्परता से  राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि अधिकारी क्षेत्र का भ्रमण कर राहत कार्य पर नज़र रखें. आपदा से प्रभावित लोगों को अनुमन्य राहत राशि का अविलंब वितरण करें.


मुख्यमंत्री ने ये निर्देश भी दिए हैं कि जलभराव की स्थिति में जल निकासी के लिए प्रभावी प्रबंध किए जाएं. नदियों के जल स्तर की निगरानी की जाए. फसलों को हुए नुकसान का आकलन कर शासन को आख्या उपलब्ध कराई जाए तक प्रभावित किसानों को नियमानुसार मुआवजा राशि उपलब्ध कराई जा सके.

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो