Sat, May 25, 2024

‘सरल एप’ के माध्यम से ली जाएगी निपुण आकलन परीक्षा, पहली बार बच्चे ओएमआर शीट पर देंगे सवालों के जवाब

By  Shagun Kochhar -- September 10th 2023 03:30 PM
‘सरल एप’ के माध्यम से ली जाएगी निपुण आकलन परीक्षा, पहली बार बच्चे ओएमआर शीट पर देंगे सवालों के जवाब

‘सरल एप’ के माध्यम से ली जाएगी निपुण आकलन परीक्षा, पहली बार बच्चे ओएमआर शीट पर देंगे सवालों के जवाब (Photo Credit: File)

लखनऊ: 'निपुण भारत मिशन" के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए योगी सरकार सोमवार से निपुण आकलन परीक्षा (NAT) का आयोजन करने जा रही है। 11 से 16 सितम्बर 2023 तक चलने वाली इस परीक्षा के माध्यम से कक्षा 1-5 तक के बच्चों का भाषा एवं गणित विषयों का तथा कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों का गणित एवं विज्ञान विषयों का संकलन किया जाएगा। 


खास बात ये है कि परीक्षा ‘सरल एप’ के माध्यम से ली जाएगी और पहली बार बच्चे ओएमआर शीट पर सवालों के जवाब देंगे। निपुण असेसमेंट टेस्ट (NAT) का पारदर्शी एवं शुचितापूर्ण आयोजन करने के लिए सभी जनपदों के बीएसए व डायट प्राचार्यों को निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही शिक्षकों द्वारा सामुदायिक सहभागिता, होम विजिट के माध्यम से छात्रों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए भी कहा गया है।


उपलब्ध कराया जाएगा रिपोर्ट कार्ड

एक ओएमआर शीट द्वारा एक छात्र का डाटा शिक्षक द्वारा आकलन पूर्ण होने के बाद सरल एप के जरिए स्कैन किया जाएगा। ओएमआर शीट को केवल ब्लैक बॉल पेन से ही भरा जाएगा। इसके लिए कक्षा 4 से 8 के बच्चों को कम्पोजिट ग्रांट से अधिकतम 5 रुपए प्रति पेन क्रय करते हुए बच्चों को उपलब्ध कराया जाएगा।परीक्षा के बाद प्रश्नपत्रों के मूल्यांकन के बाद सभी बच्चों को उनके रिपोर्ट कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे।


फ्लाइंग स्क्वायड और कंट्रोल रूम करेंगे मॉनिटरिंग

नकलविहीन व पारदर्शी आकलन के लिए विकास खण्डवार फ्लाइंग स्क्वायड का गठन एवं क्रॉस इनविजीलेशन के लिए जनपद स्तरीय अधिकारियों (बेसिक शिक्षा एवं अन्य विभाग) को मॉनिटरिंग के लिए निर्देशित किया गया है। जिला परियोजना कार्यालयों में परीक्षा से सम्बंधित कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गई है।


परीक्षा को लेकर जारी किए गए निर्देश

- परीक्षा का समय अधिकतम 1 घंटा 30 मिनट का होगा। परीक्षा के बाद शिक्षकों द्वारा 01 घंटे के अंदर स्कैनिंग की प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी। बच्चों की संख्या के अनुसार यह समय अवधि निर्धारित की जा सकती है।


- परीक्षा में कक्षा 1 से 3 तक एक ओएमआर शीट पर 08 बच्चों का आकलन किया जा सकेगा। वहीं कक्षा 4 से 8 में प्रत्येक बच्चे के लिए एक-एक ओएमआर शीट प्रयोग में लाई जाएगी।


- कक्षा 1 से 3 के बच्चों की ओएमआर शीट पर शिक्षकों द्वारा स्टूडेंट आईडी नम्बर भरा जाएगा। शिक्षक सभी बच्चों से प्रश्न पत्र में उल्लिखित प्रश्नों को एक-एक पूछेंगे तथा उनके उत्तर के अनुसार ओएमआर शीट भरेंगे।


- वहीं कक्षा 4 से 8 के सभी बच्चों को प्रश्न पत्र व ओएमआर शीट वितरित करने के बाद प्रश्न पत्र एवं ओएमआर शीट भरने के तरीके के बारे में उदाहरण सहित समझाया जाएगा, ताकि उनसे शीट भरने में गलतियां न हों। 


- यदि बच्चा प्रश्न पत्र में दिए गए निर्देश के अनुसार सही उत्तर देता है, तो सम्बंधित प्रश्न के सापेक्ष बने गोले को शिक्षक द्वारा काले पेन से भरा जाएगा अन्यथा उसे खाली छोड़ दिया जाएगा। ओएमआर शीट को केवल ब्लैक बॉल पेन द्वारा ही भरा जाएगा।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो