Fri, Jun 21, 2024

UP Crime News: 2 पत्नियां, 6 गर्लफ्रेंड और 9 बच्चों की जिम्मेदारी ने बना दिया शातिर ठग, पुलिस ने किया गिरफ्तार

By  Deepak Kumar -- December 2nd 2023 01:06 PM
UP Crime News: 2 पत्नियां, 6 गर्लफ्रेंड और 9 बच्चों की जिम्मेदारी ने बना दिया शातिर ठग, पुलिस ने किया गिरफ्तार

UP Crime News: 2 पत्नियां, 6 गर्लफ्रेंड और 9 बच्चों की जिम्मेदारी ने बना दिया शातिर ठग, पुलिस ने किया गिरफ्तार (Photo Credit: File)

लखनऊ/जय कृष्णा: राजधानी में एक युवक ने रुपये दोगुने करने के लालच में 3 लाख रुपये उधार लेकर दांव पर लगा दिए। वह ठगी का शिकार हो गया। उसे ठगी का अहसास तब हुआ, जब आरोपी असली रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए और युवक को चूरन वाले नोट से भरा बैग थमा दिया, जिस पर ऊपर और नीचे असली नोट लगे हुए थे। युवक ने डायल 112 पर 'लूट' की सूचना दी, लेकिन कुछ ही देर में पूरे मामले का खुलासा हो गया।



रुपये दोगुना करने का लालच देकर लोगों से करता था ठगी

दरअसल, रुपये दोगुना करने का लालच देकर लोगों को भीड़ भाड़ वाले स्थान पर बुलाकर लाखों रुपये की चपत लगाने वाले एक शातिर ठग को सरोजनीनगर पुलिस और क्राइम टीम की संयुक्त टीमों ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया हैं। पकड़ा गया ठग पूर्व जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के पास से घटना में प्रयोग की गई एक स्कॉर्पियो, तीन मोबाइल फोन, दो लाख पंद्रह हजार रुपये की नकदी समेत 110 गड्डी एक सौ नंबर के नकली कूपन नोट, 30 गड्डी दो सौ नंबर के कूपन नोट,6 गड्डी पांच सौ और सात गड्डी पचास के कूपन नोट बरामद किया हैं। डीपीसी साउथ विनीत जायसवाल ने ठग की पकड़ने वाली टीम को 10 हजार इनाम देने की घोषणा की हैं ।

डीसीपी साउथ विनीत कुमार जायसवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि बीती 27 नवंबर को उन्नाव जिले के भाऊमऊ थाना- असोहा निवासी धर्मेन्द्र ने सरोजनीनगर कोतवाली में उनके परिचित सूरज चौधरी निवासी रापरा सरौरा, थाना सैरपुर के खिलाफ अपने साथी रमेश व एक अज्ञात साथी के साथ मिलकर रुपये दोगुना करने का लालच देकर तीन लाख रुपये ठगने का मुकदमा दर्ज करवाया था। इस खुलासे के लिए तीन टीमें गठित करी थी। उन्होंने कहा कि बुधवार को टीम ने न्यू गरौडा पुल के पास शहीद पथ तिराहा के पास से आरोपी अजीत मौर्य उर्फ रमेश को गिरफ्तार कर लिया। गिरोह का सरगना अजीत मौर्या गोंडा जनपद से जिला पंचायत सदस्य रह चुका है।



आरोपी ने किया ये खुलासा

पुलिस की जांच पड़ताल में खुलासा हुआ है कि आरोपी युवक की दो पत्नियां, छह गर्लफ्रेंड और 9 बच्चे हैं। उसने दोनों पत्नियों के लिए आलीशान मकान बनवा रखा है, एक पत्नी लखनऊ में जबकि दूसरी पत्नी उसके गोंडा जिले में स्थित मकान में बच्चों के साथ रहती है। जबकि आरोपी अजीत मौर्य किराए के मकान में रहता है। अपनी पत्नियों की हर सुख सुविधा के लिए वह ठगी के पैसे बराबर बांट देता था। कई बार वह अपनी अलग-अलग गर्लफ्रेंड के साथ टूर कर चुका है।

बता दें आरोपी अजीत मौर्या छठी कक्षा से ड्रॉपआउट है। वह मुंबई में प्लास्टर ऑफ पेरिस बनाने का काम करता था। मुंबई में उसने 40 साल की संगीता से वर्ष 2000 में शादी की। दोनों के सात बच्‍चे हुए। 2010 में उसकी नौकरी चली गई। इसके बाद वह वापस अपने गांव गोंडा लौटा आया। बहुत प्रयास करने के बाद भी उसे अच्छी नौकरी नहीं मिली तो वह गुनाह के रास्ते पर चल पड़ा।

वर्ष 2016 में चोरी का मामला हुआ था दर्ज

अजीत मौर्य के खिलाफ वर्ष 2016 में चोरी का मामला गोंडा में दर्ज किया गया था। इसके बाद उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। दो साल बाद वर्ष 2018 में वह 30 साल की सुशीला के संपर्क में आया। दोनों ने मिलकर फर्जीवाड़े का काम शुरू कर दिया। अजीत ने फर्जी नोटों के सर्कुलेशन और फर्जी पोंजी स्कीमों का काम शुरू कर दिया। अजीत और सुशीला ने मिलकर कुछ लोगों के साथ अपना गैंग तैयार किया और लग्जरी लाइफ जीने लगे। वर्ष 2019 में अजीत ने सुशीला से शादी कर ली। दोनों के दो बच्चे हैं।

पूर्व जिला पंचायत सदस्य है सरगना अजीत मौर्या

इंस्पेक्टर शैलेंद्र गिरी ने बताया कि अजीत मौर्या गोंडा जनपद से जिला पंचायत सदस्य रह चुका है। उस पर गोंडा, बस्ती सहित लखनऊ के मोहनलालगंज में दो कृष्णा नगर, गोमती नगर, सरोजनी नगर थाने में कुल सात मुकदमें दर्ज हैं। अजीत लोगों को अपना नाम राजेश बता कर लोगों को झांसे में लेता था। वह अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर पैसा हड़पता था। अजीत मौर्या अपने साथियों को कमीशन भी बांटता था।



भीड़ भाड़ वाले स्थान पर बदलता था नोट

एडीसीपी साउथ शशांक सिंह ने बताया कि ठगी का आरोपी अजीत मौर्या उर्फ रमेश लोगो को दोगुना रकम देने का लालच देकर भीड़भाड़ वाले स्थान पर बुलाता था। नोटो की गड्डी में पहला व आखिरी नोट ओरिजल लगाकर अंदर कूपन नोट यानी बंच्चो के खेलने वाले चूरन वाले नोट लगा कर दे देता था। जिसके साथ उसने ठगी की यह शिकायत भी नही कर पाता था। वह पीड़ितों को बताया था कि नकली नोट नेपाल से लेकर आता हैं। आरोपी पीड़ितों से असली रुपए लेकर उन्हें पुलिस का डर बात कर नकली नोटों से भरे बैग में छोटा ताला लगा कर बोला जाता था, कि यहां भीड़ भाड़ ज्यादा है, अलग हट कर चेक करे और उनका असली रुपया लेकर फरार हो जाते थे।

बरामद हुए असली व नकली रुपये

पुलिस ने आरोपित की गिरफ्तारी के बाद उसके पास से एक स्कार्पियो गाड़ी (यूपी 45 आर 1400) फर्जी नंबर व पीड़ित के साथ ठगे गए 2 लाख 15 हजार रूपये ओरिजनल नोट सहित  110 गड्डी कूपन नोट, 30 गड्डी दो सौ के कूपन नोट 6 गड्डी 500 के कूपन नोट तथा 7 गड्डी पचास के कूपन नोट बरामद किए गए।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो