Sun, Apr 14, 2024

UP: देश में पहली बार एयरपोर्ट के तर्ज पर होगी श्री काशी विश्वनाथ धाम मंदिर की सफाई व्यवस्था

By  Rahul Rana -- April 3rd 2024 11:56 AM

UP: देश में पहली बार एयरपोर्ट के तर्ज पर होगी श्री काशी विश्वनाथ धाम मंदिर की सफाई व्यवस्था (Photo Credit: File)

ब्यूरो: देश में पहली बार किसी मंदिर में सफाई व्यवस्था एयरपोर्ट के तर्ज पर किया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली सफाई व्यवस्था लागू करने वाला श्री काशी विश्वनाथ मंदिर देश का पहला मंदिर होगा। श्री काशी विश्वनाथ धाम में नई सफाई व्यवस्था के लिए मंदिर प्रशासन और एयरपोर्ट अथॉरिटी के बीच वार्ता किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार नई व्यवस्था अप्रैल महीने के अंतिम सप्ताह से लागू किया जा सकता है। धाम में सफाई के लिए नई व्यवस्था के लागू होने उपरांत मंगला आरती से लेकर शयन आरती तक कई चरण में धाम में सफाई की जाएगी। इस व्यवस्था को लागू किए जाने को लेकर मंदिर प्रशासन ने कवायत शुरू कर दिया है।

निजी कंपनी द्वारा किया जाता है मंदिर में सफाई, निरीक्षण के दौरान मिली खामियां

श्री काशी विश्वनाथ धाम मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि श्री काशी विश्वनाथ धाम में सफाई को लेकर न्यास की तरफ पहले ही बैठक किया गया है। श्री काशी विश्वनाथ धाम के प्रवेश से लेकर निकास तक श्रद्धालुओं को उच्चस्तरीय सफाई व्यवस्था और अन्य सुविधाओं को लेकर कवायत किया जा रहा है। बता दें कि नई व्यवस्था के पश्चात मंदिर परिसर में स्टैंटर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर लागू किया जाएगा। जिसके तहत विश्वनाथ धाम परिसर में कई चरण में सफाई किए जानेंगे। इसके लिए सफाईकर्मियों की संख्या बढ़ाने के साथ ही उन्हें प्रशिक्षित भी किया जाएगा। करीब 5 लाख स्क्वायर फीट में मौजूद श्री काशी विश्वनाथ धाम परिसर में 33 भवनों का निर्माण करीब 900 करोड़ रूपए से किया गया है। मंदिर में लगातार भक्तों की बढ़ती संख्या और चढ़ावे में हो रही वृद्धि के बाद मंदिर प्रशासन भी सुविधाओं में बढ़ोतरी कर रहा है।

सावन के महीने में श्री काशी विश्वनाथ के दर्शन और आरती हुई महंगी, ये है नई रेट लिस्ट

 

विश्वनाथ धाम परिसर में सीईओ ने किया औचक निरीक्षण, गंदगी मिलने पर लगाया 2.70 लाख रुपए का जुर्माना

श्री काशी विश्वनाथ धाम परिसर में सोमवार को मुख्य कार्यपालक अधिकारी विश्वभूषण मिश्रा औचक निरीक्षण पर निकले। धाम परिसर में विभिन्न स्थानों पर निरीक्षण के दौरान गंदगी देखने को मिला। ऐसे में मुख्य कार्यपालक अधिकारी पूरे धाम परिसर का निरीक्षण किया, तो कुल 54 स्थानों पर गंदगी मिली। विश्वनाथ धाम परिसर में मानकों के अनुरूप सफाई न होने और गंदगी मिलने पर मौजूदा सफाई व्यवस्था करवाने वाली कंपनी पर जुर्माना लगाया गया। मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने करीब 5 हजार रूपए प्रति स्थान के हिसाब से निजी कंपनी पर करीब 2.70 लाख का जुर्माना लगाते हुए नोटिस जारी किया। इसके साथ ही हिदायत दिया कि यदि दोबारा विश्वनाथ धाम परिसर में गंदगी मिलने पर कंपनी पर और अधिक जुर्माना और कार्रवाई किया जाएगा।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो