Sat, May 25, 2024

UP News: ग्रुप हाउसिंग प्लॉट स्कीम के जरिए वर्ल्ड क्लास लिविंग स्टैंडर्ड को प्रमोट करने की तैयारी

By  Deepak Kumar -- October 12th 2023 10:52 AM
UP News: ग्रुप हाउसिंग प्लॉट स्कीम के जरिए वर्ल्ड क्लास लिविंग स्टैंडर्ड को प्रमोट करने की तैयारी

UP News: ग्रुप हाउसिंग प्लॉट स्कीम के जरिए वर्ल्ड क्लास लिविंग स्टैंडर्ड को प्रमोट करने की तैयारी (Photo Credit: File)

लखनऊ/ग्रेटर नोएडा: उत्तर प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी व देश के ग्रोथ इंजन के तौर पर स्थापित करने के साथ ही योगी सरकार प्रदेश में लोगों को वर्ल्ड क्लास लिविंग स्टैंडर्ड्स के अनुरूप जीवन यापन सुनिश्चित कराने की दिशा में भी प्रयास कर रही है। इसी क्रम में सीएम योगी की मंशा के अनुरूप, ग्रेटर नोएडा में वर्ल्ड क्लास सिविक एमेनिटीज विकसित करने के साथ ही इन सुविधाओं का लाभ पहुंचाने के लिए ग्रुप हाउसिंग प्लॉटिंग्स के लिए एक नई स्कीम जारी की है।

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यीडा) ने सेक्टर 22-डी से 6 केटेगरी के प्लॉट्स के लिए आवेदन मांगे हैं। 28 सितंबर से शुरू हुई इस प्रक्रिया के अंतर्गत 61.50 करोड़ से लेकर 135.3 करोड़ रुपए के बीच प्लॉट्स का रिजर्व्ड प्राइस (पीएलसी सहित) निर्धारित किया गया है जबकि रजिस्ट्रेशन अमाउंट 6.15 करोड़ से 13.53 करोड़ रुपए के बीच निर्धारित किया गया है।

वर्ल्ड क्लास फैसिलिटीज का मिलेगा लाभ

उल्लेखनीय है कि जेवर एयरपोर्ट, इंटरनेशनल फिल्म सिटी, यमुना एक्सप्रेसवे, मेडिकल पार्क, एजुकेशनल हब व बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट से निकटता के कारण बेहतर कनेक्टिविटी समेत तमाम सुविधाओं का लाभ यहां ग्रुप हाउसिंग प्लॉट स्कीम के जरिए भूमि खरीद करने वाले डेवलपर्स को मिलेगी। उनकी हाउसिंग स्कीम्स के जरिए इन प्लॉट्स पर बनने वाले भवनों में रहने वाले लोगों को भविष्य में पॉड ट्रांजिट सिस्टम के रूप में भारत में अपनी तरह की पहली विश्व स्तरीय परियोजना समेत तमाम सुविधाओं का लाभ मिलेगा।

स्पष्ट है कि इन वर्ल्ड क्लास सिविक एमेनिटीज का लाभ न केवल ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में रहने वाले लोगों के जीवनस्तर में सकारात्मक वृद्धि करेगा बल्कि उन्हें वर्ल्ड क्लास सुविधाओं का लाभ भी देगा। इससे उत्तर प्रदेश की छवि में भी सकारात्मक वृद्धि होगी और अन्य शहरों में भी इसी तर्ज पर वर्ल्ड क्लास एमेनिटीज को डेवलप करने का मार्ग प्रशस्त होगा। उल्लेखनीय है कि इस परियोजना में प्लॉट्स लेने के इच्छुक आवेदक 27 अक्टूबर 2023 तक अप्लाई कर सकते हैं व अधिक जानकारी के लिए यीडा की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन कर सकते हैं। सफल आवेदनकर्ताओं का चयन 21 नवंबर के पूर्व हो जाएगा और 21 नवंबर को ही ई-ऑक्शन के जरिए सफल आवेदनकर्ता बोली लगाकर भूमि प्राप्त कर सकेंगे।

6 केटेगरीज में प्लॉटिंग्स का ई-ऑक्शन से होगा आवंटन

यीडा की वेबसाइट पर इस स्कीम से संबंधित रिक्त प्लॉट्स का आंकड़ा साझा किया गया है। इसके अनुसार, प्लॉट्स के क्षेत्रफल, सेक्टर, प्रति स्क्वायर मीटर रेट ऑफ अलॉटमेंट व रिजर्व्ड प्राइस समेत तमाम जानकारियां साझा की गई हैं। ग्रेटर नोएडा के सेक्टर 22-डी में इस परियोजना के अंतर्गत कुल 6 प्रकार की प्लॉटिंग्स का भूमि आवंटन होगा जिसके लिए 21 नवंबर को करोड़ों की बोली लगेगी। इस प्लॉटिंग स्कीम में 20 हजार से 40 हजार वर्ग मीटर के प्लॉट्स के आवंटन के लिए आवेदन मांगे गए हैं। स्कीम के तहत सेक्टर 22-डी के प्लॉट जीएच-01ए-1 से लेकर जीएच-01-सी-2 के मध्य की प्लॉटिंग्स को ग्रुप हाउसिंग योजना के लिए निर्धारित किया गया है।

आईसीआईसीआई बैंक निभाएगा बैंकिंग पार्टनर की भूमिका

इस परियोजना के आवेदन समेत बैंकिंग ऑपरेशन्स को अंजाम देने के लिए यीडा ने आईसीआईसीआई बैंक से हाथ मिलाया है और वह बतौर एक्सक्लूसिव बैंकिंग पार्टनर परियोजना में हिस्सेदारी निभाएगा। उल्लेखनीय है कि चाहें औद्योगिक प्लॉट्स की नीलामी हो या फिर ड्रॉ प्रक्रिया के जरिए निर्धारण हो, इन सभी को अंजाम देने के लिए लास्ट ह्यूमन इंटरफेरेंस यानी मानवीय हस्तक्षेप की गुंजाइश न के बराबर रखी गई है। यीडा समेत सभी औद्योगिक विकास प्राधिकरणों में इसी व्यवस्था के जरिए आवेदकों का निर्धारण सफलतापूर्वक किया जा रहा है।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो