Wed, Apr 24, 2024

वाराणसीः चेतसिंह किले में 1 करोड़ से अधिक पार्थिव शिवलिंग की होगी पूजा, बनेगा विश्व रिकार्ड

By  Deepak Kumar -- November 25th 2023 04:48 PM
वाराणसीः चेतसिंह किले में 1 करोड़ से अधिक पार्थिव शिवलिंग की होगी पूजा, बनेगा विश्व रिकार्ड

वाराणसीः चेतसिंह किले में 1 करोड़ से अधिक पार्थिव शिवलिंग की होगी पूजा, बनेगा विश्व रिकार्ड (Photo Credit: File)

ब्यूरोः वाराणसी में शिवाला घाट के चेतसिंह किले में 9 दिवसीय अनुष्ठान में एक करोड़ एक लाख पार्थिव शिवलिंग की पूजा की जाएगी। इस पूजा में शिवलिंग का 16 तरीके से विधिवत पूजा और अभिषेक कर रहे हैं। वाराणसी में एक करोड़ से अधिक शिवलिंग की पूजा करने का एक विश्व रिकार्ड बनेगा। इसके लिए 26 नवंबर को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम वाराणसी आएगी। बता दें काशी में पहली बार सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंगार्चन किया जा रहा है। 

दक्षिण भारत से आए 500 वैदिक ब्राह्मण और विद्वान होंगे शामिल

विजयानंदनाद गुरु सेवा समिति चैरिटेबल ट्रस्ट तेलंगाना के बैनर तले महानुष्ठान हो रहा है। इस महानुष्ठान में दक्षिण भारत से आए 500 वैदिक ब्राह्मण और विद्वान शामिल होंगे। कांची पीठ के शंकरायाचार्य जगतगुरु विजयेंद्र सरस्वती स्वामी, 9 पीठाधीश्वर के निर्देशन में करीब 20 हजार श्रद्धालु साक्षी हैं।

परिसर में एक करोड़ सवा लाख शिवलिंग को स्थापित किया गया है। इसके अलावा 12 ज्योर्तिलिंग मंदिर स्वरुप में अलग बनाए गए हैं। चेतसिंह किले के पंडाल में प्रतिदिन पूजन और अभिषेक किया जा रहा है। पार्थिव शिवलिंगार्चन के दौरान विविध अनुष्ठान के बीच बेलपत्र, दूब व गंगाजल सहित अन्य सामग्री समेत हवन और महाआरती भी अनवरत है।  

पूजन में ये रहे शामिल

कृष्ण कौंडिन्य शर्मा के आचार्यत्व में वैदिक विद्वानों ने पार्थिव शिवलिंगों का पूजन हुआ। ब्रह्मश्री साम्वेद शर्मा का शिवतत्व पर प्रवचन दिया। हैदराबाद से आए पांच हजार श्रद्धालु पार्थिव शिवलिंगार्चन की परिक्रमा और पूजा अर्चना में प्रतिदिन जुटे हैं। पूजन में आदिनाथ संप्रदाय के पीठाधीश्वर कल्कि महाराज, काशी तेलुगू समिति के संस्थापक बीवी सुंदर शास्त्री, शैलेंद्र सिंह, लक्ष्मी के अलावा संचालन चक्रवर्ती विजय नावड़ शामिल हैं।

58 केंद्रों पर 5 महीने में बनाए एक करोड़ शिवलिंग

बता दें एक करोड़ पार्थिव शिवलिंग को 58 केंद्रों में 5 महीने में तैयार किए गए है। इन शिवलिंग को तैयार करने के लिए 10 हजार लोग शामिल थे। वैदिक विद्वान व कार्यक्रम के समन्वयक चंद्रशेखर घनपाठी ने कहा कि देश में पहली बार एक पंडाल में एक करोड़ सवा लाख पार्थिव शिवलिंगार्चन की जा रही है। इस आयोजन को विश्व रिकॉर्ड में दर्ज करने की तैयारी के चलते टीम को आमंत्रण दिया गया है। 

 26 नवंबर को आएगी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड  

श्री विजयानंदनाध गुरु सेवा समिति के जनरल सेक्रेटरी डॉ. जीके वेंकट ने बताया कि 26 नवंबर को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम आएगी। वह पार्थिव शिवलिंगों की संख्या की जांच करेगी।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो