Advertisment

अतीक़-अशरफ़ के बाद किसका नंबर ? ये रही पूरी लिस्ट

After Atiq and Ashraf here is the list of gangster in Uttar Pradesh | उत्तर प्रदेश में शासन-प्रशासन ने एक साल पहले प्रदेश के चिन्हित 66 माफियाओं की जो सूची जारी की थी, उनमें से दो बड़े नाम अब मिट्टी में मिल चुके हैं। यानी अतीक़ अहमद और उसका भाई अशरफ़ अहमद। बीते दिनों में 66 माफियाओं में से बिजनौर का आदित्य राणा उर्फ रवि पुलिस एनकाउंटर में तो प्रयागराज का अतीक़ अहमद अपने भाई अशरफ़ अहमद के साथ बदमाशों की गोली का शिकार बन गया। हालांकि पुलिस इनमें से ज़्यादातर को सलाख़ों के पीछे रखने में भी सफल रही है।

author-image
Mohd. Zuber Khan
Updated On
New Update
अतीक़-अशरफ़ के बाद किसका नंबर ? ये रही पूरी लिस्ट

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में शासन-प्रशासन ने एक साल पहले प्रदेश के चिन्हित 66 माफियाओं की जो सूची जारी की थी, उनमें से दो बड़े नाम अब मिट्टी में मिल चुके हैं। यानी अतीक़ अहमद और उसका भाई अशरफ़ अहमद।

Advertisment

बीते दिनों में 66 माफियाओं में से बिजनौर का आदित्य राणा उर्फ रवि पुलिस एनकाउंटर में तो प्रयागराज का अतीक़ अहमद अपने भाई अशरफ़ अहमद के साथ बदमाशों की गोली का शिकार बन गया। हालांकि पुलिस इनमें से ज़्यादातर को सलाख़ों के पीछे रखने में भी सफल रही है।

मेरठ ज़ोन के माफिया

आपको बता दें कि शासन की चिन्हित माफिया सूची में ज़्यादातर मेरठ ज़ोन के हैं। मेरठ ज़ोन में उधम सिंह, योगेश भदौड़ा, बदन सिंह उर्फ बद्दो, हाजी याक़ूब क़ुरैशी, शारिक़, सुनील राठी, धर्मेंद्र, यशपाल तोमर, अमर पाल उर्फ कालू, अनुज बारखा, विक्रांत सिंह उर्फ विक्की, हाजी इक़बाल उर्फ बाला, विनोद शर्मा, सुशील उर्फ मूंछ, संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा, विनय त्यागी उर्फ टिंकू शामिल हैं। वहीं गौतमबुद्धनगर में सुंदर भाटी, सिंहराज भाटी, अमित कसाना, अनिल भाटी, रणदीप भाटी, मनोज उर्फ आसे, अनिल दुजाना शामिल हैं। 

Advertisment

इसे भी पढ़ें:- अतीक़-अशरफ़ की हत्या नहीं थी, राक्षसों का वध होता है - निर्भयानंद

इसी तरह आगरा ज़ोन में अनिल चौधरी, रिषी कुमार शर्मा। बरेली ज़ोन में एजाज़, आदित्य राणा उर्फ रवि। कानपुर ज़ोन में अनुपम दुबे, कानपुर कमिश्नरेट में सऊद अख़्तर।

लखनऊ ज़ोन के माफिया

Advertisment

लखनऊ ज़ोन में ख़ान मुबारक, अजय प्रताप सिंह उर्फ अजय सिपाही, संजय सिंह सिंघला, अतुल वर्मा, मो. सहीम उर्फ क़ासिम, लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में लल्लू यादव, बच्चू यादव, जुगनू वालिया उर्फ हरविंदर सिंह शामिल हैं।

वाराणसी ज़ोन के माफिया

वाराणसी ज़ोन में मुख़्तार अंसारी, त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन सिंह, विजय मिश्रा, ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह, अखंड प्रताप सिंह, रमेश सिंह उर्फ काका, वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट में अभिषेक सिंह हनी उर्फ जहर, बृजेश कुमार सिंह, सुभाष सिंह ठाकुर, गोरखपुर जोन में संजीव द्विवेदी उर्फ रामू द्विवेदी, राकेश यादव, सुधीर कुमार सिह, विनोद कुमार उपाध्याय, राजन तिवारी, रिज़वान ज़हीर और देवेंद्र सिंह का नाम सूची में बतौर माफिया दर्ज है।

Advertisment

प्रयागराज के 13 माफियाओं के नाम

इस फेहरिस्त में प्रयागराज ज़ोन और कमिश्नरेट के 13 माफियाओं के नाम दर्ज हैं। प्रयागराज ज़ोन में डब्बू सिंह उर्फ प्रदीप सिंह, सुधाकर सिंह, गुड्डू सिंह, अनूप सिंह, प्रयागराज कमिश्नरेट में अतीक़ अहमद, बच्चा पासी उर्फ निहाल पासी, दिलीप मिश्रा, जावेद उर्फ पप्पू, राजेश यादव, गणेश यादव, कम्मू उर्फ क़मरुल हसन, जाबिर हुसैन और मुज़फ्फर का नाम दर्ज है।

बिकरू कांड के बाद बढ़ते गए नाम

Advertisment

दरअसल, कानपुर के बिकरू कांड के बाद शासन ने नए सिरे से माफियाओं को सूचीबद्ध करना शुरू किया था। पहले ये फेहरिस्त 25 माफिया तक सीमित थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 50 और फिर 66 किया गया। हालांकि प्रदेश के अपराध जगत के कई चर्चित नामों को अभी इसमें शामिल नहीं किया गया है।

 अतीक़ अहमद और अशरफ़ की गोली मारकर हत्या

आपको बता दें कि प्रयागराज में माफिया अतीक़ अहमद और अशरफ़ की शनिवार की रात में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। रात साढ़े 10 बजे के बाद अतीक़ और अशरफ़ को उस वक़्त गोली मारी गई, जब वो दोनों मेडिकल जांच के लिए अस्पताल लाया गए थे। मीडियाकर्मी बनकर आए तीन हमलावरों ने दनादन गोलियां बरसाईं। इस पूरे घटनाक्रम के बाद पुलिस की लापरवाही के चलते 17 पुलिसक्रमियों को सस्पेंड किया जा चुका है और सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को जांच के दिशा-निर्देश दिए हैं। 

-PTC NEWS
up-news kasari-masari-graveyard asad-funeral atiq-ahmed-murder atiq-ahmed-killers atiq-killers-family atiq-ahmed-case-update afzal-ansari list-of-gangster-in-up gangster-in-up
Advertisment