Advertisment

किसान ने बेटियों को हेलीकॉप्टर से किया विदा, लेकिन 'ससुराल' में नहीं मिली उतरने की इजाज़त

उत्तर प्रदेश के बरेली में किसान भाइयों ने अपनी मां की इच्छा पूरी करने के लिए बेटियों की शादी धूमधाम से की। 23 फरवरी को दोनों बेटियों के विवाह की रस्में पूरू हुईं। 24 फरवरी की सुबह दुल्हनों की विदाई हेलीकॉप्टर से की गई। इसके लिए किसान परिवार ने अपने खेत में हेलीकॉप्टर उतरने की इजाज़त पहले ही ले ली थी, लेकिन ससुराल में यह उत्साह तब फीका पड़ गया, जब दुल्हनों को लेकर आए हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं मिली। इसके कारण हेलीकॉप्टर से दूल्हा-दुल्हन दिल्ली रवाना हो गए।

author-image
Mohd. Zuber Khan
Updated On
New Update
किसान ने बेटियों को हेलीकॉप्टर से किया विदा, लेकिन 'ससुराल' में नहीं मिली उतरने की इजाज़त

बरेली/उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश के बरेली में किसान भाइयों ने अपनी मां की इच्छा पूरी करने के लिए बेटियों की शादी धूमधाम से की। 23 फरवरी को दोनों बेटियों के विवाह की रस्में पूरू हुईं। 24 फरवरी की सुबह दुल्हनों की विदाई हेलीकॉप्टर से की गई। इसके लिए किसान परिवार ने अपने खेत में हेलीकॉप्टर उतरने की इजाज़त पहले ही ले ली थी, लेकिन ससुराल में यह उत्साह तब फीका पड़ गया, जब दुल्हनों को लेकर आए हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं मिली, जिसकी वजह से हेलीकॉप्टर से दूल्हा-दुल्हन दिल्ली रवाना हो गए।

Advertisment

भोजीपुरा क्षेत्र के गांव दोहना पीतमराय के किसान राजेंद्र सिंह यादव की बेटी प्रियंका और उनके छोटे भाई रामदास उर्फ नन्हे यादव की बेटी प्रीति की शादी मीरगंज के गांव हल्दी खुर्द निवासी सगे चचेरे-तहेरे भाइयों के साथ हुई है। राजेंद्र सिंह यादव ने बताया कि उनकी 70 वर्षीय मां प्रेमवती की इच्छी थी कि दोनों बेटियों की विदाई हेलीकॉप्टर से की जाए।

ये भी पढ़ें:-  उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का बयान

राजेंद्र ने मां की इच्छा पूरी करने के लिए हेलीकॉप्टर बुक किया। प्रशासन से लैंडिंग की अनुमति प्राप्त की। गुरुवार रात प्रियंका और प्रीति की शादी धूमधाम से संपन्न हुई। रामदास ने बताया कि दोनों दामाद चचेरे तहेरे भाई हैं। सुबह करीब 10 बजे हेलीकॉप्टर राजेंद्र सिंह यादव के खेत में उतरा। हेलीकॉप्टर से दुल्हनों की विदाई देखने के लिए हज़ारों लोग जुटे।

किसान परिवार ने दूल्हा-दुल्हनों को हेलीकॉप्टर से विदा किया, लेकिन बेटियों की ससुराल मीरगंज में हेलीकॉप्टर को उतारने की अनुमति नहीं मिली। यहां लोग इंतज़ाम करते रह गए। लैंडिंग की अनुमति न मिलने पर हेलीकॉप्टर को दिल्ली ले जाया गया है। अब दूल्हा-दुल्हन वहां से कार में सवार होकर मीरगंज के गांव हल्दी खुर्द आएंगे। ससुराल के लोग दुल्हनों का इंतज़ार कर रहे हैं।

- पीटीसी न्यूज़ उत्तर प्रदेश

up-news viral-video deputy-chief-minister-keshav-prasad-maurya
Advertisment