Sun, Apr 14, 2024

28 साल पुराने मामले में मुख़्तार अंसारी पर कसा शिकंजा, 10 साल की सज़ा, तो 5 लाख का जुर्माना

By  Mohd. Zuber Khan -- December 15th 2022 04:14 PM -- Updated: December 15th 2022 04:29 PM
28 साल पुराने मामले में मुख़्तार अंसारी पर कसा शिकंजा, 10 साल की सज़ा, तो 5 लाख का जुर्माना

28 साल पुराने मामले में मुख़्तार अंसारी पर कसा शिकंजा, 10 साल की सज़ा, तो 5 लाख का जुर्माना (Photo Credit: File)

ग़ाज़ीपुर/लखनऊ: उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद बाहुबली नेता और पूर्व विधायक मुख़्तार अंसारी को 10 साल की सज़ा सुनाई गई है। क़रीब 28 साल पुराने मामले में माफ़िया मुख़्तार अंसारी को यह सज़ा हुई है। ग़ाज़ीपुर की कोर्ट ने मुख़्तार अंसारी के अलावा अन्य दोषी भीम सिंह को भी 10 साल की सज़ा का ऐलान किया है। यही नहीं, अदालत ने 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

गौरतलब है कि 1996 में मुख़्तार अंसारी के ख़िलाफ़ गैंगस्टर एक्ट का मामला दर्ज हुआ था। गैंगस्टर एक्ट में मुख़्तार के ख़िलाफ़ कुल 5 मामले थे, जिसमें दो ग़ाज़ीपुर, दो वाराणसी और एक चंदौली का मामला शामिल था। 

वहीं वाराणसी की अदालत में गैंगस्टर एक्ट मामले में दोषी भीम सिंह को पेश किया गया था, जबकि मुख़्तार अंसारी की ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी हुई थी। आपको बता दें कि मुख़्तार अंसारी ज़मीन हथियाने, हत्या और वसूली समेत कम से कम 49 आपराधिक मामलों में आरोपी हैं। वह हत्या के प्रयास और हत्या समेत कई मामलों में उत्तर प्रदेश में मुक़दमों का सामना कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: https://up.ptcnews.tv/nation/up-cities-will-be-covered-under-cctv-surveillance-79

फिलहाल मुख़्तार अंसारी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में हैं। इससे पहले ईडी ने धन शोधन के एक मामले में गैंगस्टर से नेता बने मुख़्तारअंसारी को गिरफ़्तार किया था। ईडी ने धन शोधन रोकथाम क़ानून (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत उन्हें हिरासत में लिया। उन्हें एजेंसी द्वारा पेशी वारंट के आधार पर प्रयागराज की एक अदालत में पेश किया गया था। 

एजेंसी ने नवंबर में प्रयागराज में अपने कार्यालय में पूछताछ के बाद उनके विधायक बेटे अब्बास अंसारी को भी गिरफ़्तार कर लिया था। इससे पहले मुख़्तार अंसारी के रिश्तेदार आतिफ रज़ा को गिरफ़्तार किया गया था। ईडी ने पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बावजूद पेश न होने पर मुख़्तार अंसारी की पत्नी अफ़सान अंसारी के ख़िलाफ़ लुकआउट सर्कुलर भी जारी कराया था। मुख़्तार अंसारी के ख़िलाफ़ धन शोधन का मामला उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दर्ज कई प्राथमिकियों से निकला है। इसके अलावा विकास कंसट्रक्शंस नामक कंपनी के ख़िलाफ़ दो प्राथमिकियां दर्ज की थी जिसे अंसारी की पत्नी, आतिफ रज़ा समेत दो रिश्तेदार तथा अन्य लोग चला रहे थे।

-PTC NEWS

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो