Tue, May 28, 2024

योगी सरकार त्रेतायुगीन वैभवशाली रामनगरी को अलौकिक रूप देने में जुटी

By  Bhanu Prakash -- February 28th 2023 10:37 AM
योगी सरकार त्रेतायुगीन वैभवशाली रामनगरी को अलौकिक रूप देने में जुटी

योगी सरकार त्रेतायुगीन वैभवशाली रामनगरी को अलौकिक रूप देने में जुटी (Photo Credit: File)

प्राचीन सूर्य कुंड के कायाकल्प का कार्य अंतिम दौर में

मार्च में पूरा कर लिया जाएगा सूर्य कुंड का कार्य

अयोध्या 28 फरवरी। भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या का पुराना वैभव वापस लौट रहा है। 2024 अयोध्या में राममंदिर के उद्घाटन से पहले योगी आदित्यनाथ सरकार त्रेतायुगीन वैभवशाली रामनगरी को अलौकिक रूप देने के प्रयास में जुटी है। राम की पैड़ी के बाद योगी सरकार रामनगरी से 4 किलोमीटर दूर दर्शन नगर में स्थित सूर्य कुंड का भी सौंदर्यीकरण कर रही है जिसका काम तकरीबन पूर्ण हो चुका है और मार्च तक इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

अयोध्या के आसपास जो पौराणिक स्थल हैं उनको विकसित किया जा रहा है। उसी में सबसे पहले सूर्य कुंड को विकसित किया जा रहा है और यह कार्य मार्च में पूरा कर लिया जाएगा। योगी सरकार की मंशा है कि अयोध्या में व्यापार बढ़ाने के लिए पर्यटकों को कम से कम अयोध्या में 3 दिन रोका जाए ताकि वो 3 दिन तक भ्रमण कर सके और खरीदारी भी कर सके। अयोध्या के प्राचीन मठ, मंदिर और कुंडों को भी देख सके। साथ हीउनके बारे में जान सके।

राम के राज्याभिषेक पर अयोध्या आये थे सूर्य देव

सूर्य कुंड पर राम राज्याभिषेक के समय सूर्य देव के धरती पर अवतरण की जो कहानी है जिसे सूर्य कुंड की वैभव गाथा जोड़ी जाती हैं। सूर्यकुंड के देखे बिना उनकी अयोध्या की यात्रा पूर्ण नहीं होगी इसका मुझे पूर्ण विश्वास है।भगवान राम की नगरी में एक से एक प्रसिद्ध जगह है सूर्य कुंड की मान्यता है कि जब भगवान राम का राज्याभिषेक हो रहा था, तब उस समय सारे देवता अयोध्या आए थे और उनमें सूर्य देवता भी थे. सूर्य देवता दर्शन नगर के पास रुके थे, जिसको आज सूर्य कुंड के नाम से जाना जाता है और वहां पर सूर्य देवता का एक मंदिर भी है. सूर्य कुंड के मंदिर को पुरानी पद्धति यानी कि चूना और गुड़ के माध्यम से बनाया जा रहा है।उसके ऊपर आधारित एक लाइट एंड साउंड शो के रूप में सूर्य कुंड पर प्रदर्शित किया जाएगा।

 अयोध्या के नगर आयुक्त विशाल सिंह ने दावा किया कि अयोध्या आने वाले जो भी श्रद्धालु और पर्यटक आएंगे उन्हें इसकी पूरी जानकारी मिलेगी। फूड कोर्ट से लेकर बैठने तक की यहाँ सुविधा होगी। सूर्य कुंड को खूबसूरत बनाने के लिए यहां चार भव्य गेट बनाए गए हैं। फूड कोर्ट बनकर तैयार हैं। सूर्य कुंड पर आने वाले श्रद्धालुओं को ना तो पूजा पाठ की कोई समस्या होगी और ना ही बैठने की कोई समस्या होगी और ना ही खाने पीने की कोई समस्या होगी। यहाँ स्थित सूर्य मंदिर का जीर्णोद्धार कर दिया गया है। जल्द यहां पूजन अर्चन शुरू हो जाएगा। सूर्य कुंड की अपनी महिमा है, होली के बाद किसी भी समय इसका उद्घाटन भी किया जा सकता है।

सूर्य कुंड देखकर प्रफुल्लित होंगे श्रद्धालु

इस बारे में जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने कहा कि जब भी श्रद्धालु सूर्य कुंड जाएंगे तो इस जगह को देखकर प्रफुल्लित हो जाएंगे सूर्य कुंड में काफी बेहतर तरीके से लाइट एंड साउंड की व्यवस्था की गयी है। सूर्य कुंड का लगभग 90% काम पूरा हो चुका हैं मार्च में इसे पूरा कर लिया जाएगा।

  • Share

ताजा खबरें

वीडियो