Advertisment

वो पिता जो आख़िरी सांस तक अपने ही बेटे पर चाकू बरसाता रहा...

मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र के डांडा सिकंदरपुर गांव में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर एक पत्थर दिल पिता ने अपने ही लाडले बेटे का क़त्ल कर, अपने ही हाथ खून से रंग लिए। इस पत्थर दिल बाप ने महज़ मामूली कहासुनी को लेकर अपने बेटे के शरीर पर चाकू से कई वार कर दिए और उस पर चाकू से धारदार हमला कर उसे हमेशा-हमेश के लिए मौत की नींद सुला दिया।

author-image
Mohd. Zuber Khan
Updated On
New Update
वो पिता आख़िरी सांस तक अपने ही बेटे पर चाकू बरसाता रहा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ क्षेत्र से एक सनसनीख़ेज़ ख़बर सामने आई है, जिसे जानकर कोई भी दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर हो जाए, किसी के भी पसीने छूट जाएं, कोई भी सन्न रह जाए। 

Advertisment

दरअसल मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र के डांडा सिकंदरपुर गांव में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर एक पत्थर दिल पिता ने अपने ही लाडले बेटे का क़त्ल कर, अपने ही हाथ खून से रंग लिए।

इस पत्थर दिल बाप ने महज़ मामूली कहासुनी को लेकर अपने बेटे के शरीर पर चाकू से कई वार कर दिए और उस पर चाकू से धारदार हमला कर उसे हमेशा-हमेश के लिए मौत की नींद सुला दिया।

सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने फरार क़ातिल पिता की सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस ने कहा है कि इस शर्मनाक घटना को अंजाम देने वाला आरोपी जल्द ही सलाखों के पीछे होगा और उसके ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisment

ये भी पढ़ें :- आखिरकार प्रयागराज के नैनी जेल पहुंचा अतीक, बेटा भी इसी जेल में है बंद

जैसे ही इस कलयुग पिता की वारदात के बारे में लोगों को पता चला तो आस-पासे के इलाक़ों में सन्नाटा पसर गया और हर कोई इस बेरहम बाप और पत्थर दिल पिता पर लानत भेज रहा है, जिसने अपने ही जिगर के टुकड़े के जिस्म पर चाकू से अनगिनत हमले करके उसे मौत के घाट उतार दिया।

जानकारी के मुताबिक़ आरोपी माता प्रसाद का अपने बेटे संदीप से घर पर झगड़ा हो रहा था। फिर वो झगड़ा इतना बढ़ गया कि घर में रखे चाकू से 

Advertisment

उसने अपने ही बेटे पर हमला कर उसका बहुत ही बेरदर्दी के साथ क़त्ल कर दिया और इस शर्मनाक घटना को अंजाम देकर मौक़ा-ए-वारदात से फरार हो गया। 

किसी तरह जब इस हैरतअंगेज़ घटना के बारे में ग्रामीणों को पता चला तो उन्होंने बिना कोई देर किए इस पूरे मामले को पुलिस के सामने उज़ागर किया, जिसके बाद आनन-फानन में पुलिस ने संदीप को सीएससी इलाज के लिए लेकर चली गई, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया और इस तरह से एक बेटा, अपने ही पिता की बली चढ़ गया।

 - PTC NEWS

up-news crime-news up-crime crime-branch crime-control lucknow-news up-crime-news
Advertisment