Advertisment

तवांग में संघर्ष पर मायावती ने जताई चिंता, बोलीं- इस पर तुरंत क़ाबू पाना ज़रूरी

सपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर भारत व चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुए संघर्ष पर चिंता जताते हुए कहा कि इस पर तुरंत क़ाबू पाना ज़रूरी है। इस बीच उन्होंने भारतीय सेना की तारीफ़ करते हुए कहा कि सेना ने अपने पराक्रम के अनुरूप काम किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में भारत और चीन की सेना के बीच खूनी संघर्ष और उसमें कई सैनिकों के घायल होने की ख़बर अति-दुःखद व चिन्तनीय है।

author-image
Mohd. Zuber Khan
Updated On
New Update
तवांग में संघर्ष पर मायावती ने जताई चिंता, बोलीं- इस पर तुरंत क़ाबू पाना ज़रूरी

लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर भारत व चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुए संघर्ष पर चिंता जताते हुए कहा कि इस पर तुरंत क़ाबू पाना ज़रूरी है। इस बीच उन्होंने भारतीय सेना की तारीफ़ करते हुए कहा कि सेना ने अपने पराक्रम के अनुरूप काम किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में भारत और चीन की सेना के बीच खूनी संघर्ष और उसमें कई सैनिकों के घायल होने की ख़बर अति-दुःखद व चिन्तनीय है। उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि यूक्रेन युद्ध के परिणामों से पीड़ित एवं सहमी दुनिया में भारत-चीन सेना के बीच नए संघर्ष पर तुरंत कूटनीतिक तरीके से क़ाबू पाना लाज़िमी है।

Advertisment

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय सेना ने चीन के साथ ताज़ा मामले में भी एक बार फिर जैसे को तैसा मुंहतोड़ जवाब देकर अपनी मज़बूती के अनुरूप कार्य किया है, जो सराहनीय है। अब सरकार की ज़िम्मेदारी है कि अपनी कुटनीतिक कुशलता का परिचय दे, यही देश को उम्मीद है। साथ ही मायावती ने ये भी कहा है कि अपनी इंटेलीजेंस को भी और मज़बूत बनाना होगा, क्योंकि ये समय की मांग है।

गौरतलब है कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग ज़िले में भारत व चीन की सेना के सैनिकों के बीच झड़प हो गई, जिसमें भारतीय सेना के जवानों ने चीनी सैनिकों को क़रारा जवाब दिया है। 

आपको बता दें कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में एलएसी पर भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के मुद्दे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी जो कि अब समाप्त हो गई है। इस बैठक में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान और तीनों सेना प्रमुख रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वहीं आज इस मुद्दे पर संसद में हंगामा भी हुआ है। कांग्रेस ने जहां प्रधानमंत्री मोदी से जवाब की मांग कर रही है, वहीं विपक्ष के कई सांसदों ने सस्पेंशन ऑफ बिज़नेस नोटिस दिया है। 

-PTC NEWS

news up-news
Advertisment