Advertisment

लव-सेक्स और ब्लैकमेल, आगरा में 300 से ज़्यादा लड़कियों को ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

नाबालिग युवकों द्वारा लड़कियों का शोषण करने के लिए गैंग बनाकर वारदातों को अंजाम देने का सनसनीख़ेज़ मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक़ दो दर्ज़न से अधिक लड़कों का गिरोह अलग-अलग तरीक़ों से साथ पढ़ने वाली लड़कियों के मोबाइल से, उनका डेटा चोरी कर उन्हें ब्लैकमेल करता था। झकझोर देने वाली बात ये है कि एक युवक का काम निकलने पर वो दूसरी लड़की का डेटा लेकर ख़ुद के द्वारा शोषण की गई लड़की का सारा डेटा दूसरे को दे देता था। ख़ुलासा करने वाली अनरजिस्टर्ड एनजीओ का दावा है कि गिरोह के युवकों के द्वारा 300 से ज़्यादा लड़कियों को ब्लैकमेल कर उनका शोषण किया जा रहा था।

author-image
Mohd. Zuber Khan
Updated On
New Update
लव-सेक्स और ब्लैकमेल, आगरा में 300 से ज़्यादा लड़कियों को ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

आगरा: नाबालिग युवकों द्वारा लड़कियों का शोषण करने के लिए गैंग बनाकर वारदातों को अंजाम देने का सनसनीख़ेज़ मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक़ दो दर्ज़न से अधिक लड़कों का गिरोह अलग-अलग तरीक़ों से साथ पढ़ने वाली लड़कियों के मोबाइल से, उनका डेटा चोरी कर उन्हें ब्लैकमेल करता था। 

Advertisment

झकझोर देने वाली बात ये है कि एक युवक का काम निकलने पर वो दूसरी लड़की का डेटा लेकर ख़ुद के द्वारा शोषण की गई लड़की का सारा डेटा दूसरे को दे देता था। ख़ुलासा करने वाली अनरजिस्टर्ड एनजीओ का दावा है कि गिरोह के युवकों के द्वारा 300 से ज़्यादा लड़कियों को ब्लैकमेल कर उनका शोषण किया जा रहा था।

ताजनगरी आगरा में एक ग़ैर पंजीकृत एनजीओ की शिकायत पर पुलिस ने 9 नामजद और 20 से 25 अज्ञात लड़कों के एक गिरोह के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया है। आरोपियों में ज़्यादातर अभी नाबालिग हैं।

जानकारी के मुताबिक़ इस बाबत एक ग़ैर सरकारी संगठना (अपंजीकृत) के द्वारा महिला आयोग, बाल आयोग और अन्य जगहों पर शिकायत की गई। एनजीओ का आरोप है की बीते दिनों सिकंदरा थाना क्षेत्र की एक नाबालिग छात्रा ने उनसे मदद मांगी थी। छात्रा का आरोप था की कुछ युवक उसकी एडिटेड अश्लील फोटो और कुछ चैटिंग के स्क्रीन शॉट दिखाकर उसे ब्लैक मेल कर रहे हैं। मना करने पर आरोपी उसे उठा कर ले जाने को धमकी दे रहे हैं, वो अगर शिकायत करेगी तो परिजन उसे ग़लत ठहराएंगे और उसकी पढ़ाई बंद हो जाएगी।

Advertisment

पीड़िता की शिकायत पर एनजीओ के पदाधिकारियों ने लड़की को धमकी देने के काल रिकॉर्ड्स इकट्ठा किए और एक युवक को पकड़ कर उससे पूछताछ की। युवक ने पूछताछ में खुद ब्लैकमेलिंग करने और अपने दस से ज़्यादा साथियों के पास फोटो वीडियो होने की बात कबूल की।

ये भी पढ़ें:-  तो इसलिए इस 70 वर्षीय बुज़ुर्ग ने अपनी 28 साल की विधवा बहू से की शादी !

एनजीओ संचालक ने बताया की अभी फिलहाल 9 लोगों के ख़िलाफ़ उनके पास सबूत हैं और इस गिरोह में 30 से ज़्यादा युवक शामिल हैं। इनमें से ज़्यादातर आरोपी नाबालिग हैं और इनकी शिकार लड़कियां भी 18 साल से कम हैं।

एनजीओ संचालक की मानें तो फिलहाल उनकी जांच में सिर्फ लड़कियों के शोषण करने की बात ही सामने आई है। आगरा पुलिस से महिला आयोग द्वारा जवाब तलब करने के बाद कार्रवाई ज़रूर की है, लेकिन ये कार्रवाई मामूली है। नाबालिग आरोपी इन धाराओं में गिरफ़्तार भी नहीं हो सकते हैं और उन्हें न्यायालय से ही ज़मानत मिल जायेगी। पुलिस अगर सही जांच करेगी तो इनके नेटवर्क का सही आंकलन हो पाएगा।

-PTC NEWS
news up-news
Advertisment